केंद्रीय कृषि मंत्री के क्षेत्र में किसानों की दुर्गति, घंटों धूप में खड़े रहे, फिर खाद के बदले मिली लाठियां

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के क्षेत्र में खाद की भारी किल्लत, सुबह से लाइनों में लग जाते हैं किसान, शाम होते-होते पुलिस से मार खाकर लौट जाते हैं घर, किसान बोले- खाद के बदले मिलती है लाठियां

Updated: Oct 13, 2021, 06:21 PM IST

केंद्रीय कृषि मंत्री के क्षेत्र में किसानों की दुर्गति, घंटों धूप में खड़े रहे, फिर खाद के बदले मिली लाठियां

मुरैना। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के क्षेत्र मुरैना के किसान खाद की गंभीर संकट से जूझ रहे हैं। मुरैना में खाद की किल्लत की खबरें लगातार आ रही है। इसी बीच किसानों की पिटाई का भी एक वीडियो सामने आया है। वीडियो में देखा जा सकता है कि खाद लेने आए किसानों को पुलिस डंडे मार रही है। कांग्रेस ने वीडियो पर प्रतिक्रिया देते शिवराज सरकार की तुलना राक्षस राज से की है।

मामला कृषि उपज मंडी कैलारस का है। बताया जा रहा है कि हर दिन यहां सैंकडों किसान खाद की उम्मीद में आते हैं और पुलिस की लाठी खाकर वापस लौटते हैं। एक किसान ने बताया की, 'सुबह चार बजे से ही खाद के लिए लाइन में लगे हुए थे, लेकिन खाद नहीं मिली। हां खाद के बदले लाठियां जरूर मिली। अब चोट और दर्द लेकर वापस घर जा रहा हूं।' 

पुलिस द्वारा लाठीचार्ज के दौरान कई किसान घायल हुए हैं। मामले पर अधिकारियों का कहना है कि जिले में खाद की कोई कमी नहीं है, आवश्यकतानुसार खाद उपलब्ध है। एडीएम नरोत्तम भार्गव का कहना है कि व्यवस्था को बनाए रखने के लिए थोड़ी सख्ती करनी पड़ती है। अनावश्यक रूप से लाइन में लगकर व्यवस्था नहीं बिगाड़नी चाहिए।' हालांकि, यह बात समझ से परे ही कि कड़ी धूप में कोई बेवजह लाइन में क्यों खड़ा रहेगा। 

यह भी पढ़ें: 12 लाख सांडों की नसबंदी कराएगी शिवराज सरकार, कांग्रेस बोली- मामू के दिमाग में भरा गोबर

मुरैना में खाद की किल्लत का आंदाज इसी बात से लगाया जा सकता है कि सोमवार को ही यहां किसानों द्वारा ट्रक से खाद लूटने की खबर सामने आई थी। हालांकि, प्रदेश के कृषि मंत्री ने तब आरोप लगाया था कि वे विपक्ष के लोग थे। मुरैना में आक्रोशित किसानों ने सड़क जाम भी किया था। कुछ वीडियो में किसान सर पीटते भी नजर आ रहे हैं। लेकिन मुरैना से चुनकर कृषि मंत्री बने नरेंद्र सिंह तोमर की इसपर कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। 

मामले पर मध्य प्रदेश किसान कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष केदार शंकर सिरोही ने आरोप लगाया कि सरकार में बैठे लोग खाद की कालाबाजारी करने में लगे हुए हैं। सिरोही ने कहा, 'जिस तरह से मुरैना में खाद के लिए लाइन में लगे बुजुर्ग किसानों के ऊपर लाठियां चलाई गई वह जनरल डायर की याद दिलाती है। कृषि मंत्री तोमर को शर्म आनी चाहिए। इन्हीं किसानों ने वोट देकर उन्हें केंद्रीय मंत्री बनाया और वोट के बदले उन्हें लाठियां मिली। किसान विरोधी मोदी और शिवराज सरकार का अंत निकट है।'