MP यूथ कांग्रेस ने व्यापमं दफ्तर पर जड़े ताले, प्रदेश अध्यक्ष डॉ विक्रांत भूरिया गिरफ्तार

शिक्षक भर्ती परीक्षा वर्ग 3 पेपर लीक मामले को लेकर भोपाल में यूथ कांग्रेस का प्रदर्शन, MPYC कार्यकर्ताओं ने व्यापमं दफ्तर पर की तालेबंदी, व्यापमं चोर-गद्दी छोड़ के लगे नारे

Updated: Mar 31, 2022, 04:28 PM IST

MP यूथ कांग्रेस ने व्यापमं दफ्तर पर जड़े ताले, प्रदेश अध्यक्ष डॉ विक्रांत भूरिया गिरफ्तार

भोपाल। मध्य प्रदेश प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा में हुए पेपर लीक का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को राजधानी भोपाल में व्यापक विरोध प्रदर्शन किया। प्रदेश अध्यक्ष डॉ विक्रांत ने व्यापमं दफ्तर पर ताले जड़ दिए। बाद में पुलिस ने भूरिया को गिरफ्तार कर लिया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक डॉ विक्रांत भूरिया के नेतृत्व में यूथ कांग्रेस ने गुरुवार दोपहर पीसीसी मुख्यालय से व्यापमं तक मार्च निकाला। इस दौरान सैंकड़ों की संख्या में मौजूद युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने व्यापमं दफ्तर के बाहर नारेबाजी शुरू कर दी। यूथ कांग्रेस कार्यकर्ता "व्यापमं चोर-गद्दी छोड़" के नारे लगा रहे थे। यहां पुलिस की मौजूदगी में युवा कांग्रेस ने व्यापमं दफ्तर पर ताले जड़ दिए।

हंगामा बढ़ता देख मौके पर अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाया गया। इसके बाद पुलिस ने बलप्रयोग कर विक्रांत भूरिया समेत दर्जनों कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया। MPYC चीफ ने कहा कि, 'घोटालेबाज शिवराज सरकार हमारी आवाज को दबाने के लिए पुलिस को आगे कर रही है। शिवराज के मंत्री घोटाले में संलिप्त हैं। प्रदेश के लाखों युवाओं का भविष्य अंधेरे में है। हम शिवराज पुलिस की लाठियों और गिरफ्तारी से नहीं डरते हैं। युवा कांग्रेस घोटालेबाजों के खिलाफ कार्रवाई होने तक आवाज उठाती रहेगी।' 

बता दें कि व्यापमं की प्रारंभिक जांच में यह बात साबित हो गई है कि प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा के लीक हुए पेपर का वायरल स्क्रीन शॉट सही था।लेकिन इसमें नया मोड़ यह है कि पेपर लीक कांड में ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी मंत्री गोविंद सिंह राजपूत का नाम जुड़ गया है। जिस कॉलेज से यह पेपर लीक हुआ वह मंत्री राजपूत के बेटे, आदित्य राजपूत का कॉलेज बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: सिंधिया के करीबी मंत्री तक पहुंची व्यापमं पेपर लीक कांड की आंच, गोविंद सिंह राजपूत के बेटे के कॉलेज का निकला स्क्रीनशॉट

मंत्री पुत्र का नाम सामने आने के बाद कांग्रेस सीएम शिवराज को घोटाले का मास्टर माइंड बता रही है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अरुण यादव ने सीबीआई जांच की मांग की है।