आदिवासी मंत्रियों ने किया बीजेपी संगठन की बैठक का बहिष्कार, बीएल संतोष ने लगायी सबकी क्लास

जब बीजेपी आदिवासी वोट बैंक को लुढ़ने के लिए ऐड़ी-चोटी का ज़ोर लगा रही है तब आदिवासी मंत्रियों का संगठन प्रभारी के साथ मीटिंग में शामिल न होना बहुत बड़े मतभेद के रूप में देखा जा रहा है... बीएल संतोष की इस बैठक में मंत्री बिसाहूलाल सिंह के अलावा प्रेम सिंह ठाकुर, विजय शाह, मीना सिंह, राम किशोर कांवरे बैठक से नदारद रहे

Updated: Nov 30, 2021, 12:09 PM IST

आदिवासी मंत्रियों ने किया बीजेपी संगठन की बैठक का बहिष्कार, बीएल संतोष ने लगायी सबकी क्लास
Photo Courtesy: Aaj Tak

भोपाल। मध्य प्रदेश बीजेपी में बड़ी फूट उजागर हुई है। सोमवार को बीजेपी के संगठन बैठक का शिवराज सरकार के आदिवासी मंत्रियों ने बहिष्कार कर दिया। बीजेपी के राष्ट्रीय संगठन मंत्री बीएल संतोष की बैठक में शिवराज सरकार का एक भी आदिवासी मंत्री शामिल नहीं हुआ।

सोमवार को बीएल संतोष द्वारा ली गई बैठक में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, खुद सीएम शिवराज सिंह चौहान तो मौजूद रहे लेकिन उनके मंत्रिमंडल में शामिल आदिवासी मंत्री बिसाहूलाल सिंह, विजय शाह, मीना सिंह, प्रेम सिंह ठाकुर और रामकिशोर कांवरे ने बैठक में शिरकत करना जरूरी नहीं समझा। इतना ही नहीं आदिवासी मंत्रियों के अलावा कई अन्य मंत्री भी बैठक में शामिल नहीं हुए। वहीं कुछ मंत्री इस बैठक में बीएल संतोष द्वारा नाराजगी व्यक्त करने के बाद पहुंचे। 

बीते दिन जब बीएल संतोष ने संगठन की बैठक ली तब आदिवासी मंत्रियों के साथ साथ लोकनिर्माण मंत्री गोपाल भार्गव, संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर और महेंद्र सिंह सिसोदिया बैठक में मौजूद नहीं थे। बीएल संतोष द्वारा नाजराजगी व्यक्त करने के बाद यह तीनों बैठक में तो पहुंच गए लेकिन आदिवासी मंत्रियों में से एक भी मंत्री बैठक में शिरकत करने नहीं पहुंचा। वहीं एक अन्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव ने बीजेपी कार्यलाय में तो अपनी हाजिरी दर्ज कराई लेकिन बैठक से उन्होंने भी दूरी बना ली है। 

संगठन की इस बैठक से आदिवासी मंत्रियों के बॉयकॉट के सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह के समर्थन और विरोध में शिवराज मंत्रिमंडल इस समय दो खेमों में बंटा हुआ है। सामान्य वर्ग से आने वाले मंत्री बिसाहूलाल सिंह को मंत्री पद हटाने का दबाव बना रहे हैं। जबकि सरकार में मौजूद तमाम आदिवासी मंत्री बिसाहूलाल सिंह के बचाव में उतर आए हैं। 

शिवराज मंत्रिमंडल में दो फाड़ होने के कयासों के परे खुद संगठन मंत्री बीएल संतोष ने बैठक में मौजूद तमाम मंत्रियों की जमकर क्लास लगाई। बीएल संतोष ने आगामी विधानसभा चुनावों से पहले मंत्रियों को जनता के बीच अपनी छवि सुधार लेने के लिए कहा। बीएल संतोष ने मंत्रियों को आगाह करते हुए कहा कि अगर समय रहते मंत्रियों ने अपनी छवि नहीं सुधारी तो उन्हें और खुद पार्टी को आगामी चुनावों में इसके परिणाम भुगतने पड़ेंगे। 

बीएल संतोष ने मंत्रियों को संगठन के साथ सामंजस्य स्थापित करने पर जोर दिया। संगठन मंत्री ने मंत्रियों को नियमित अंतराल पर पार्टी के कार्यकर्ताओं से संवाद स्थापित करने की सलाह दी। भाजपा नेता ने कहा कि कार्यकर्ताओं से नियमित अंतराल पर संवाद करने के साथ साथ अपने अपने विभाग की पुख्ता जानकारी हासिल करने की हिदायत दी। ताकि मंत्री विभाग के अधिकारियों के साथ समन्वय के ज़रिए समस्याओं का निपटारा कर सकें।