सीधी में अच्छा नहीं रहा सीएम के ठहरने का इंतज़ाम, तो निलंबित हुए सर्किट हाउस के प्रभारी

सर्किट हाउस के प्रभारी को निलंबित करने के साथ-साथ रीवा कमिश्नर ने लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री को भी नोटिस भेजा है

Updated: Feb 19, 2021, 04:56 PM IST

सीधी में अच्छा नहीं रहा सीएम के ठहरने का इंतज़ाम, तो निलंबित हुए सर्किट हाउस के प्रभारी
Photo Courtesy : The Financial Express

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को सीधी में मच्छरों ने काटा तो इसकी भरपाई सर्किट हाउस के प्रभारी को करनी पड़ रही है। मुख्यमंत्री के सीधी दौरे के समय सर्किट हाउस में रुकने का इंतज़ाम ठीक से न करने पर प्रभारी बाबूलाल गुप्ता को निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही लोकनिर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री देवेंद्र कुमार सिंह को नोटिस भी थमाया गया है। 

रीवा के कमिश्नर राजेश कुमार जैन ने निलंबन के आदेश में कहा है कि बीते 17 फरवरी को विशिष्ट अतिथि ने सीधी ज़िले का भ्रमण करने के बाद सर्किट हाउस में रात्रि विश्राम किया था। इस संबन्ध में सर्किट हाउस के प्रभारी, उपयंत्री बाबूलाल गुप्ता को पहले ही सूचना दी गई थी। इसके बावजूद सर्किट हाउस के आसपास सफाई का नितांत अभाव पाया गया। पानी का ओवरफ्लो भी हो रहा था। कमिश्नर ने निलंबन आदेश में कहा है कि विशिष्ट अतिथि के कक्ष में मच्छर होने की शिकायत भी प्राप्त हुई है जो कि अतिथि की गरिमा के अनुरूप नहीं था। 

निलंबन आदेश में रीवा कमिश्नर ने इन कारणों को गिनाने के साथ ही मध्य प्रदेश सिविल सेवा नियम 1966 के 9(क) के प्रावधानों का हवाला देते हुए सर्किट हाउस प्रभारी बाबूलाल गुप्ता को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इस अवधि के दौरान गुप्ता को जीवन निर्वाह भत्ता (Subsistence Allowance) दिया जाएगा। इतना ही नहीं लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री देवेंद्र कुमार सिंह को भी रीवा कमिश्नर ने एक कारण बताओ नोटिस जारी किया है। कमिश्नर ने सिंह से यह बताने को कहा है कि उनकी अगली दो साल की वेतन वृद्धि को  क्यों न रोक दिया जाए। 

दरअसल सीधी में हुए दर्दनाक बस हादसे के अगले दिन मुख्यमंत्री सीधी पहुंचे थे। वे 17 फरवरी को सीधी में ही रुक गए। लेकिन सर्किट हाउस में मच्छरों ने मुख्यमंत्री को सोने नहीं दिया। सर्किट हाउस की लचर व्यवस्था पर सीएम ने रीवा कमिश्नर को सुबह तलब करके नाराज़गी व्यक्त की थी। जिसके बाद कमिश्नर ने यह कार्रवाई की है।