निवाड़ी में उल्टी-दस्त का कहर, 3 लोगों की मौत के बाद नींद से जागा प्रशासन

पृथ्वीपुर के गांव में उल्टी दस्त से 30 से ज्यादा लोग बीमार, एक ही गांव में बच्चे समेत 3 लोगों ने तोड़ा दम, स्वास्थ्य विभाग पर लगा लापरवाही का आरोप

Updated: Aug 20, 2021, 04:35 PM IST

निवाड़ी में उल्टी-दस्त का कहर, 3 लोगों की मौत के बाद नींद से जागा प्रशासन
Photo courtesy: News 4 social

निवाड़ी। जिले के पृथ्वीपुर ब्लॉक के एक गांव में उल्टी दस्त की बीमारी ने कोहराम मचा रखा है। मामला जवारपुरा गांव का है, यहां 30 से ज्यादा लोग इसकी चपेट में आ गए हैं। डायरिया के इलाज के दौरान एक 7 साल की बच्ची समेत दो लोगों की मौत हो गई है। मृतकों के परिजनों का आरोप है कि उन्हें वक्त पर इलाज नहीं मिलने की वजह से उनके मरीज की मौत हो गई।

 

वहीं मरीजों के बढ़ने पर जिला मुख्यालय की टीम ने तेजी दिखाई, और अब गांव में कैंप लगाकर लोगों का इलाज किया जा रहा है। गांव में प्रशासन के बड़े अधिकारियों ने डेरा जमा लिया है। डिप्टी कलेक्टर भी और राजस्व विभाग के कर्मचारी गांव में तैनात हैं।

जवारपुरा गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम मरीजों के इलाज में जुटी है। वहीं बीमारी की जड़ तक पहुंचने के लिए गांव के विभिन्न इलाकों के पानी का सैंपल जांच के लिए भेजा गया है।

 और पढ़ें : जबलपुर एयरपोर्ट पर चले लात घूसे, इंडिगो के कर्मचारियों से भिड़े बीजेपी के नेता

बुधवार से इस गांव में मरीजों के बीमार होने का सिलसिला शुरू हुआ था। जवारपुरा से इलाज के लिए आसपास के अस्पतालों में मरीजों को ले जाया गया। 10 मरीजों का इलाज पृथ्वीपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में किया जा रहा है, वहीं कुछ मरीज झांसी मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है। पृथ्वीपुर BMO द्वारा 6 सदस्यीय मेडिकल टीम गांव में भेजी गई है। टीम द्वारा मरीजों की जांच कर दवाएं बांट दी गई हैं। टीम ने मरीजों के हरसंभव इलाज का भरोसा दिलाया है। वहीं स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि अब नए मरीज नहीं मिल रहे हैं। स्थिति कंट्रोल में है। स्वास्थ्य विभाग ने ग्रामीणों को साफ-सफाई बरतने की सलाह दी है। लोगों से अपील की जा रही है कि बारिश के  दिनों में पानी उबाल कर उपयोग करें।