पत्नी के चरित्र पर शक के कारण कर दी सरेआम पिटाई, वीडियो वायरल होने के बाद 5 लोग गिरफ्तार

अलीराजपुर का मामला, पति ने चरित्र पर संदेह के कारण पत्नी और एक युवक की सरेआम पिटाई की, माता पिता और दो दोस्तों के साथ महिला और युवक को डंडे से पीटा, पुलिस ने पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है

Updated: Sep 24, 2021, 06:00 PM IST

पत्नी के चरित्र पर शक के कारण कर दी सरेआम पिटाई, वीडियो वायरल होने के बाद 5 लोग गिरफ्तार

अलीराजपुर। मध्य प्रदेश में महिलाओं के साथ बर्बरता का एक और मामला सामने आया है। पति ने चरित्र पर शक होने के कारण अपनी पत्नी की बेरहमी से पिटाई कर दी। इतना ही नहीं उसने सरेआम अपने पत्नी को निर्वस्त्र करने की कोशिश भी की।

पत्नी के साथ हिंसा करने में युवक के माता पिता और दो दोस्तों ने भी उसका साथ दिया। वीडियो के वायरल होने के बाद पुलिस ने महिला के ऊपर ज़ुल्म करने वाले पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। 

यह पूरा दर्दनाक घटनाक्रम अलीराजपुर के सोंडवा थाना क्षेत्र का है। सोंडवा थाना क्षेत्र के छोटी वेगलगांव में रहने वाले एक युवक ने शुक्रवार को अपनी पत्नी को एक अन्य युवक के साथ देख लिया था। पत्नी को किसी अन्य युवक के साथ जाता देख उसने अपने माता पिता और दो दोस्तों के साथ मिलकर अपनी पत्नी और युवक का पीटना शुरु कर दिया। 

पिटाई का जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है उसमें पति अपनी पत्नी को बेरहमी से पीटता दिखाई दे रहा है। पत्नी को और बेरहमी से पीटने के लिए युवक की मां उसे उकसाती दिख रही है। पति ने सरेआम अपनी पत्नी को निर्वस्त्र करने का प्रयास भी किया। वीडियो में एक जगह दिख रहा है कि युवक अपनी ही पत्नी को ज़लील करने की कोशिश कर रहा है। 

यह भी पढ़ें : परिजनों ने आदिवासी महिला की बेरहमी से की पिटाई, पेड़ पर लटकाकर किया लाठियों से वार

इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो वायरल होते ही स्थानीय पुलिस हरकत में आ गई। पुलिस ने इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस को पता चला कि पिटाई का यह वीडियो एक नाबालिग ने रिकॉर्ड किया था, लिहाज़ा पुलिस ने वीडियो बनाने वाले एक नाबालिग को भीअपनी हिरासत में लिया है।

अलीराजपुर विशेष तौर पर महिलाओं के साथ होने वाली बर्बरता के लिए बदनान है। यहां अमूमन ऐसी घटनाएं सामने आती रहती हैं, जहां महिलाओं और युवतियों को उनके परिजन बेरहमी से पीटते नजर आते हैं। पुलिस ने भी पिटाई के ताज़ा मामले में यही कहा है कि क्षेत्र में शिक्षा के प्रसार की बेहद आवश्यकता है। ताकि लोग अपनी हिंसक पृवति को त्याग कर महिलाओं  के सम्मान के साथ जीने के हक की रक्षा कर सकें।