भारी विरोध के बाद अग्निपथ योजना में सरकार ने किया बदलाव, आयु सीमा 21 से बढ़ाकर 23 करने का प्रस्ताव

यह बदलाव सिर्फ़ एक बार के लिए है.. सरकार का कहना है कि कोरोना काल में दो साल भर्तियाँ नहीं हुईं इसलिए यह बदलाव किया जा रहा है.. गुरुवार को यूपी-बिहार के साथ ही 10 राज्यों में युवाओं के विरोध प्रदर्शन के बाद सरकार ने आयु सीमा में किया गया बदलाव, सैन्य भर्ती के पुराने पैटर्न को लागू करने की मांग कर रहे हैं युवा 

Updated: Jun 17, 2022, 01:50 PM IST

भारी विरोध के बाद अग्निपथ योजना में सरकार ने किया बदलाव, आयु सीमा 21 से बढ़ाकर 23 करने का प्रस्ताव
courtesy: NDTV

नई दिल्ली। युवाओं के देशव्यापी हिंसक विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए केंद्र सरकार ने अग्निपथ सैन्य भर्ती योजना में पहला बदलाव किया है। केंद्र सरकार ने अग्निपथ सैन्य भर्ती योजना के लिए आयु सीमा को 21 से बढ़ाकर 23 कर दिया है। इस सम्बन्ध में सरकार की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि कोरोना महामारी के कारण पिछले दो वर्षों से सेना में कोई भर्ती नहीं हुई है, इसलिए अग्निपथ योजना की ऊपरी आयु सीमा में 2 वर्ष की बढोत्तरी की जा रही है। हालाँकि ये बदलाव सिर्फ इस वर्ष के लिए किया गया है। इसके बाद आयुसीमा 21 साल ही रहेगी। 

बता दें कि इससे पहले अग्निपथ सैन्य भर्ती योजना की आयु सीमा साढ़े 17 वर्ष से 21 वर्ष निर्धारित की गई थी। 4 साल के लिए होने वाली इस शार्ट टर्म भर्ती योजना का युवा विरोध कर रहे हैं। उनकी मांग है कि सेना में भर्ती के लिए पुराने पैटर्न को ही लागू किया जाए। गुरुवार को यूपी-बिहार समेत करीब 10 राज्यों में युवाओं के सड़क पर उतरकर हिंसक विरोध प्रदर्शन के बाद सरकार ने गुरुवार रात ही पहला बदलाव करने की घोषणा की है। 


सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ सड़कों पर उतरे युवाओं का प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा। गुरुवार को कई ट्रेनों में आग लगाने, स्टेशन पर तोड़फोड़ करने, चक्काजाम और पथराव के बाद शुक्रवार सुबह भी कई जगहों पर युवाओं का विरोध प्रदर्शन जारी है। शुक्रवार की सुबह युवाओं ने बिहार के समस्तीपुर और लखीसराय में ट्रेन में आग लगा दी। आज सुबह यूपी के बलिया रेलवे स्टेशन पर भी युवाओं ने तोड़फोड़ की है। पिछले दो दिनों से देशभर में युवाओं के विरोध प्रदर्शनों के बाद केंद्र सरकार की ओर से गुरुवार रात अग्निपथ योजना में पहला बदलाव किया गया है।