किसानों को लेकर विवादित आदेश देने वाले अफसर का हुआ तबादला, बनाए गए अतिरिक्त सचिव

करनाल के एसडीएम आयुष सिन्हा को हरियाणा सरकार ने नागरिक संसाधन सूचना विभाग में अतिरिक्त सचिव बनाया है, हाल ही में उनका एक विवादस्पद वीडियो वायरल हुआ था जिसमें उन्हें किसानों पर हिंसक कार्रवाई का आदेश देते हुए सुना गया था

Updated: Sep 02, 2021, 06:19 PM IST

किसानों को लेकर विवादित आदेश देने वाले अफसर का हुआ तबादला, बनाए गए अतिरिक्त सचिव

नई दिल्ली। हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार ने किसानों पर बर्बतापूर्ण रूख अख्तियार करने का आदेश देने वाले अफसर का तबादला किया है। खट्टर सरकार ने करनाल के एसडीएम का तबादला कर उन्हें अतिरिक्त सचिव बना दिया है। आयुष सिन्हा को नागरिक संसाधन सुचना विभाग में एडिशनल सेक्रेटरी बनाया गया है।  

आयुष सिन्हा का नाम हाल ही में उस समय विवादों से घिर गया था, जब करनाल में हुए किसानों के प्रदर्शन के बाद उनका एक वीडियो वायरल हुआ था। किसान करनाल हाईवे के पास प्रदर्शन करने के लिए जुटे थे। इसी दौरान किसानों और पुलिस के अमले में झड़प हो गई। जिसमें कम से कम दस किसान गंभीर रूप से घायल हो गए। इस प्रदर्शन में घायल हुए एक किसान की मौत भी हो गई। 

इस प्रदर्शन में किसानों के घायल होने की खबर सामने आने के साथ ही करनाल के एसडीएम आयुष सिन्हा का एक वीडियो तेज़ी से वायरल हुआ था। जिसमें अफसर पुलिस के जवानों को यह आदेश देते हुए सुनाई दे रहे थे कि अगर कोई भी प्रदर्शनकारी यहां तक आने की कोशिश करे तो उसका सिर फोड़ देना। 

एसडीएम के इस आदेश के वायरल होते ही बवाल मच गया। कांग्रेस पार्टी ने अफसर के इस आदेश की निंदा की ही, साथ ही बीजेपी नेता वरुण गांधी ने भी एसडीएम के आदेश को लोकतांत्रिक मूल्यों के खिलाफ करार दिया। हालांकि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर अपने अफसर का बचाव करते दिखे। सीएम खट्टर ने एसडीएम के विवादित आदेश के बारे में यही कहा कि उन्होंने शब्दों का चयन केवल गलत किया था। वहीं करनाल के डीएम निशांत यादव ने भी एसडीएम के विवादित आदेश के बचाव में कहा कि उनका इरादा गलत नहीं था।