वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बावजूद कोरोना संक्रमित हुए KEM मेडिकल कॉलेज के 27 छात्र

मुंबई के KEM मेडिकल कॉलेज में 29 विद्यार्थी कोरोना वायरस के चपेट में आ गए हैं, इनमें से 27 ऐसे हैं जिन्हें वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी है, कॉलेज में कोरोना ब्लास्ट के बाद हड़कंप मच गया है

Updated: Sep 30, 2021, 06:00 PM IST

वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बावजूद कोरोना संक्रमित हुए KEM मेडिकल कॉलेज के 27 छात्र
Photo Courtesy : NDTV

ठाणे। महाराष्ट्र के एक मेडिकल कॉलेज में कोरोना विस्फोट के बाद हड़कंप मच गया है। बताया जा रहा है कि यहां एक साथ 29 छात्रों को कोरोना ने अपने चपेट में ले लिया है। हैरानी की बात ये है कि इनमें से 27 छात्र ऐसे हैं जिन्होंने वैक्सीन की दोनों डोज ले ली है। जबकि अन्य दो छात्रों ने भी पहली डोज लगा रखी है। मामला सामने आने के बाद वैक्सीन की प्रभावशीलता को लेकर लोग आशंकित हो गए हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक कोरोना विस्फोट का ये मामला ठाणे स्थित केईएम मेडिकल कॉलेज का है। कॉलेज के डीन हेमंत देशमुख के मुताबिक करीब 1100 छात्र कॉलेज अटेंड कर रहे थे। इनमें 29 छात्रों को कोरोना संक्रमण के लक्षण थे। जब इनकी जांच कराई तो सभी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जबकि 27 ने दोनों डोज और दो छात्रों ने पहली डोज ले रखी है।

यह भी पढ़ें: पुलिसिया बर्बरता ने ली प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता की जान, झूठा निकला गोरखपुर पुलिस का दावा

रिपोर्ट्स के मुताबिक इनमें से दो छात्रों की तबियत ज्यादा बिगड़ने के बाद उन्हें सेवन हिल्स अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जबकि अन्य सभी क्वारंटाइन हैं। बताया जा रहा है की स्वास्थ्य विशेषज्ञ अब इस बात की जांच कर रहे हैं कि ये विद्यार्थी वायरस की चपेट में कैसे आए। इस बात की भी आशंका है कि वायरस का कोई नया म्यूटेशन तो नहीं है। बहरहाल, जांच के बाद ही कारणों का पता चल सकता है, लेकिन इस घटना ने वैक्सीन की प्रभावशीलता को कठघरे में खड़ा कर दिया है।

हाल ही में ऐसा ही एक मामला मध्य प्रदेश से सामने आया था। यहां इंदौर के महू में स्थित आर्मी वार कॉलेज के 30 सीनियर, जूनियर और ट्रेनी ऑफिसर कोरोना संक्रमित पाए गए थे। जबकि इन सभी ने कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवा ली थी। खास बात ये है कि पॉजिटिव आए सभी ऑफिसर्स में से किसी को कोरोना का लक्षण नहीं था।