नफरत जीत गई, आर्टिस्ट हार गया, मुनव्वर फारुकी ने स्टैंडअप आर्ट को कहा गुड बाय

कट्टरपंथी संगठनों की धमकियों के चलते लगातार रद्द हो रहे थे मुनव्वर फारुकी के कॉमेडी शो, भावुक पोस्ट में किया कॉमेडी छोड़ने का ऐलान

Updated: Nov 28, 2021, 03:41 PM IST

नफरत जीत गई, आर्टिस्ट हार गया, मुनव्वर फारुकी ने स्टैंडअप आर्ट को कहा गुड बाय

बेंगलुरु। भारत के मशहूर युवा स्टैंडअप आर्टीस्ट मुनव्वर फारुकी ने कॉमेडी छोड़ने का ऐलान किया। मुनव्वर फारुकी ने ऑडिएंस के नाम एक भावुक संदेश जारी कर लिखा है कि नफरत जीत गई, आर्टीस्ट हार गया। उन्होंने इसे अन्याय करार दिया है। बता दें कि कट्टरपंथी संगठनों की धमकियों के चलते फारुकी के शो लगातार रद्द हो रहे थे, इसी बात से तंग आकर उन्हें अपना पेशा छोड़ने को मजबूर होना पड़ा।

ऑडिएंस के नाम लिखे खत में मुनव्वर फारुकी ने बताया है कि आज बेंगलुरु का शो भी कैंसिल हो गया। क्योंकि वेन्यू को तोड़ने की धमकियां मिली थी। 600 टिकट्स भी बिक चुके थे। उन्होंने लिखा, 'पिछले महीने स्वर्गीय पुनीत राजकुमार सर की संस्था के लिए हमने चैरिटी शो करने का फैसला किया था। आज के बेंगलुरु के इस शो से चैरिटी शुरू होता। हमने तय किया था कि शो के टिकट्स हम चैरिटी के नाम पर नहीं बेचेंगे।'

यह भी पढ़ें: गौतम गंभीर को तीसरी बार मिली धमकी, धमकी में कहा पुलिस के लोग ही कर रहे हैं तुम्हारी मुखबिरी

मुनव्वर आगे लिखते हैं कि, 'जो जोक मैंने कहा ही नहीं, उसके लिए जेल भेज देने से लेकर मेरे उन शो को कैंसल करने तक, जिसमें कुछ भी गलत नहीं था, सब हुआ है और सब गलत है। इस शो को बहुत लोगों ने धर्म और मजहब से ऊपर उठकर प्यार दिया है। हमने पिछले दो महीनों में 12 शो कैंसल किए हैं, क्योंकि ऑडियंस और वेन्यू को लेकर धमकियां मिल रही थीं।' 

फारुकी ने अपने आंदाज में चार पंक्तियां भी लिखी है। 'इनकी नफरत का बहाना बन गया हूं, हंसा कर कितनों का सहारा बन गया हूं, टूटने पर इनकी ख्वाहिश होगी पूरी, सही कहते हैं, मैं सितारा बन गया हूं।' उन्होंने आगे लिखा है, 'मैं सोचता हूं अब ये अंत है। मेरे पास इतना ही वक़्त था। मैं थक चुका हूं। आप सब वंडरफुल ऑडिएंस थे। गुड बाय।'

दरअसल, बेंगलुरू में आज फारूकी का शो होना था, लेकिन पुलिस ने आर्गनाइजर्स से कह कर शो रद्द करवा दिया। शो कैंसल करने के लिए पुलिस ने कानून-व्यवस्था का हवाला दिया था। ऐसा इसलिए क्योंकि एक राइट-विंग संगठन ने पुलिस को एक ज्ञापन सौंपाकर, फारूकी के शो पर प्रतिबंध लगाने की चेतावनी दी थी।

यह भी पढ़ें: बेरोजगारी का गुजरात मॉडल, ग्राम रक्षा दल के 600 पदों के लिए उमड़ा बेरोजगारों का हुजूम, पुलिस ने भांजी लाठियां

बता दें कि इसी साल की शुरुआत में मध्य प्रदेश के इंदौर में एक कॉमेडी शो के दौरान दक्षिणपंथी संगठन के लोगों ने मुनव्वर के साथ मारपीट की थी और उसके बाद उन्हें जेल में डाल दिया गया था। पुलिस ने मुनव्वर के खिलाफ हिंदू देवी-देवताओं के खिलाफ जोक बनाने का आरोप लगाया था। लेकिन पुलिस और किसी संगठन द्वारा कोर्ट के समक्ष वो वीडियो प्रस्तुत नहीं किया गया। ऐसे में एक महीना जेल में बिताने के बाद मुनव्वर फारुकी बाहर आए थे।