BJP सांसद राजीव प्रताप रूडी के कार्यालय में खड़ी थीं दर्जनों एम्बुलेंस, 40 ड्राइवर्स लेकर पहुंचे पप्पू यादव 

बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी ने जन अधिकार पार्टी नेता पप्पू यादव को दिया था एम्बुलेंस ड्राइवर ढूंढ लाने की चुनौती, जाप नेता ने मीडिया के सामने कराई 40 ड्राइवर्स की परेड

Updated: May 08, 2021, 09:15 PM IST

BJP सांसद राजीव प्रताप रूडी के कार्यालय में खड़ी थीं दर्जनों एम्बुलेंस, 40 ड्राइवर्स लेकर पहुंचे पप्पू यादव 
Photo Courtesy: The shift india

छपरा। कोरोना संकट काल में एक ओर जहां एम्बुलेंस के अभाव में मरीजों के दम तोड़ने की खबरें आ रही हैं, वहीं दूसरी ओर बिहार के छपरा में बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी के कार्यालय में दर्जनों एम्बुलेंस खड़ी मिली हैं। मामले पर जन अधिकार पार्टी के नेता पप्पू यादव के बवाल के बाद बीजेपी सांसद रूडी ने उन्हें ड्राइवर ढूंढ लाने की चुनौती दे डाली। इसके बाद पप्पू यादव 40 ड्राइवर्स की मीडिया के सामने परेड कराई और रूडी से सभी एम्बुलेंस सौंपने की मांग की।

दरअसल, जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कल छपरा आए हुए थे। यहां वह कोरोना महामारी से उत्पन्न हुए हालातों का जायजा लेने पहुंचे थे। पप्पू यादव जब छपरा के अमनौर स्थित स्थानीय सांसद राजीव प्रताप रूडी के दफ्तर पहुंचे तो यहां खड़े एम्बुलेंस देखकर उनके होश उड़ गए। उनके मुताबिक दफ्तर के बाहर 30 एम्बुलेंस बेकार पड़ी थी। ये सभी एम्बुलेंस सांसद निधि से खरीदी गई थीं। पप्पू यादव ने इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया।

यह भी पढ़ें: जर्मनी ने भेजा 4 लाख लीटर ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता वाला प्लांट, दो दिन में करने लगेगा काम

पप्पू यादव ने ट्वीट किया, 'बीजेपी के पूर्व केंद्रीय मंत्री राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव प्रताप रूडी जी के अमनौर स्थित कार्यालय परिसर में दर्जनों एम्बुलेंस बरामद! सांसद विकास निधि से खरीदा गया एम्बुलेंस किसके निर्देश पर यहां छिपाकर रखा गया है, इसकी जांच हो? सारण डीएम, सिविल सर्जन यह बताएं! BJP जवाब दे!' 

राजीव प्रताप रूडी ने पप्पू यादव के आरोपों पर पलटवार करते हुए उन्हें एम्बुलेंस ड्राइवर ढूंढ लाने की चुनौती दे डाली। रूडी ने आरोप लगाया कि पप्पू यादव घटिया राजनीति करते हैं। उन्हें पता भी नहीं कि छपरा में कितने एम्बुलेंस चल रहे हैं। पप्पू यादव को मैं मुफ्त में सभी एम्बुलेंस देने के लिए तैयार हूं, वे ड्राइवर ढूंढकर लाएं और छपरा में एम्बुलेंस चलवाएं।' 

बीजेपी सांसद के इस चुनौती को स्वीकार करते हुए पप्पू यादव ने ट्वीट किया, 'माननीय रूडी जी, सम्मान के साथ चुनौती स्वीकार है। आपसे ड्राइवर मैनेज नहीं हो रहा है तो सारण, पटना जहां चलाना चाहते हैं, सभी एम्बुलेंस उपलब्ध कराएं। मैं 70 ड्राइवर देता हूं। कोरोना मरीज को मुफ्त सेवा दी जाएगी। घटिया राजनीति नहीं करता, सेवा और जिंदगी बचाने को लड़ रहा हूं।' 

इसके अगले दिन पप्पू यादव ने ट्वीट कर कहा कि, 'बीजेपी सांसद पांच साल में ड्राइवर तक नहीं ढूंढ पाएं हैं। आज मैं उन्हें ड्राइवर देता हूं।' इसके थोड़ी देर बाद ही पप्पू यादव ने मीडिया के सामने 40 ड्राइवरों की परेड करा दी और रूडी से कहा कि अब वे हमें सारे एंबुलेंस सौंपें...मैं उन्हें फ्री में चलवाउंगा। जाप नेता ने ट्वीट किया, 'लीजिए रूडी जी, ड्राइवर सेना तैयार है। एम्बुलेंस कब और कहां सौंपने वाले हैं, बताएं! बिहार सरकार इन सभी चालक बंधुओं को नियमित नौकरी दे। यह हर परिस्थिति में एम्बुलेंस चलाएंगे। कोविड मरीजों को मुफ्त में सेवा देंगे। हम सेवा की राजनीति करते हैं, जनहित में ऐसी राजनीति सब करें, स्वागत है।' 

पप्पू यादव ने इसके बाद एक चौंकाने वाला वीडियो भी पोस्ट किया जिसमें देखा जा सकता है रूडी के सांसद निधि से खरीदे गए एम्बुलेंस का उपयोग बालू ढोने के लिए किया जा रहा है। पप्पू यादव ने ट्वीट किया, 'एम्बुलेंस का राजीव प्रताप रूडी जी बालू ढोने में बहुत बेहतरीन उपयोग कर रहे थे। इसके लिए उनके पास ड्राइवर भी उपलब्ध थे। लेकिन बीमारों की मदद के लिए एम्बुलेंस चलाने के लिए ड्राइवर नहीं था।' 

मामले पर खबर लिखे जाने तक बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी की ओर से कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। हालांकि, ट्विटर पर यह मुद्दा ट्रेंड कर रहा है। रूडी ने ट्विटर पर बस ये लिखा है कि वर्षों से टॉल फ्री नंबर 18003456222 द्वारा संचालित सांसद निधि के एम्बुलेंस हजारों मरीजों के उपचार में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।'