दो बच्चों वाली क्लास में दूसरे नंबर पर आया है हमारा देश, पीएम मोदी के संबोधन पर कांग्रेस नेता का पलटवार

पवन खेड़ा ने कहा कि क्या प्रधानमंत्री उन लाखों मृतकों के परिवार की नजरों से अपनी नज़र मिला पाएंगे, पवन खेड़ा ने पीएम पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में कुछ भी अच्छा आपके होने से नहीं, आपके होने के बावजूद हो रहा है

Publish: Oct 22, 2021, 12:33 PM IST

दो बच्चों वाली क्लास में दूसरे नंबर पर आया है हमारा देश, पीएम मोदी के संबोधन पर कांग्रेस नेता का पलटवार
Photo Courtesy: Twitter

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने प्रधानमंत्री के संबोधन का करारा जवाब दिया है। सौ करोड़ वैक्सीन की डोज लगाए जाने पर प्रधानमंत्री द्वारा अपनी सरकार का गुणगान किए जाने के जवाब में पवन खेड़ा ने कहा है कि हम दो बच्चों वाली क्लास में दूसरे यानी आखिरी पायदान पर आए हैं और प्रधानमंत्री इसे सफलता करार दे रहे हैं। पवन खेड़ा ने कहा कि प्रधानमंत्री को इस देश के किसानों से और लाखों कोरोना मृतकों के परिवार से प्रधानमंत्री को माफी मांगनी चाहिए। 

कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने प्रधानमंत्री के राष्ट्र के नाम संबोधन पर पलटवार करते हुए कहा कि क्या मोदी जी उन लाखों परिवार से नज़रें मिला सकते हैं, जिन्होंने उनकी सरकार की नाकामियों के कारण अपने परिवार को खो दिया? पवन खेड़ा ने कहा कि जब लोग मर रहे थे, तब प्रधानमंत्री अपना कार्यालय और सेंट्रल विस्ता के निर्माण में लगे हुए थे। उस दौरान उन्हें देश के लोगों की याद क्यों नहीं आई? 

पवन खेड़ा ने प्रधानमंत्री के संबोधन को लेकर कहा कि प्रधानमंत्री आखिर कैसे किसानों को अपना मुंह तक दिखा सकते हैं। किसानों द्वारा किए गए रिकॉर्ड उत्पादन पर प्रधानमंत्री अपनी पीठ थपथपा रहे हैं। खेड़ा ने प्रधानमंत्री पर करारा तंज कसते हुए कहा कि यह रिकॉर्ड उत्पादन आपकी वजह से नहीं आपके होने के बावजूद हो रहा है। 

कांग्रेस नेता ने कहा कि आपने(प्रधानमंत्री मोदी) तो किसानों की कमर तोड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ी? इसलिए यह साकारत्मकता का भाषण अपने पास रखिए और देश से माफी मांगिए। 

यह भी पढ़ें : वैक्सीन की 100 करोड़ डोज की उपलब्धि पर बोले पीएम, यह हर देशवासी की सफलता है

खेड़ा ने मोदी को खदेड़ा 

पवन खेड़ा के पीएम के संबोधन पर पटलवार का लोग समर्थन करते नजर आ रहे हैं। सोशल मीडिया यूजर्स कह रहे हैं कि पवन खेड़ा ने अपने जवाब से मोदी को खदेड़ दिया है। वहीं प्रधानमंत्री द्वारा किए गए अपनी सरकार के गुणगान पर भी लोग अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर लोग कह रहे हैं कि जनता के पैसे से जनता को वैक्सीन लगाई जा रही है। और यह एहसास कराया जा रहा है कि सरकार ऐसा कर के जनता पर एहसान कर रही है।