Eiffel Tower: 104 दिन बाद लौटी रौनक

Paris : कोरोना की वजह से हुआ 27 मिलियन यूरो का नुकसान

Publish: Jun-29, 2020, 02:03 AM IST

Eiffel Tower: 104 दिन बाद लौटी रौनक

एक बार फिर विश्वप्रसिद्ध् एफिल टावर की रौनक लौट आई है। अब यहां सैलानियों की कतारें नजर आने लगी हैं। बच्चों की धमाचौकड़ी और पर्यटकों की आवाजों से माहौल एक बार फिऱ खुशनुमा हो गया है। कोरोना लॉकडाउन के कारण पिछले करीब 3 महीने से बंद एफिल टावल देखने के लिए सैलानी पहुंचने लगे हैं। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद सबसे ज्यादा लंबे वक्त तक बंद रहने के बाद इसे हाल ही में खोला गया है।

एफिल टावर की पहली और दूसरी मंजिल ही पर्यटकों के लिए खुली

लेकिन एफिल टावर का नजारा अभी पहले जैसा नहीं है। यहां पर्यटकों को मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। एक निश्चित संख्या में ही पर्यटकों को आने दिया जा रहा है। फिलहाल कोरोना के मद्देनजर यहां लिफ्ट बंद रखी गई है। पर्यटकों को लिफ्ट की जगह सीढियों से ही उपर जाना पड़ रहा है। 324 मीटर ऊंचे एफिल टावर की केवल पहली और दूसरी मंजिलें ही दर्शकों के लिए खोली गई हैं। बाकी मंजिलें फिलहाल बंद ही रखी गई हैं। यहां तक कि टॉप फ्लोर तक ले जाने वाले एलिवेटर्स भी बंद हैं। जिसकी वजह से ज्यादातर लोग दूर से ही इस टॉवर का नजारा लेते नजर आए।

पेरिस में कोविड 19 महामारी के बढ़ते मामलों के मद्देनजर एफिल टॉवर को बंद किया गया था। एफिल टॉवर 104 दिनों के बाद दर्शकों के लिए खोला गया। इतने दिन बंद रहने से सरकार को 27 मिलियन यूरो ($ 30 मिलियन) का नुकसान हुआ है।