डॉ. अपाला मिश्रा ने रचा इतिहास, UPSC इंटरव्यू में सबसे ज्यादा नंबर पाने का बनाया रिकॉर्ड

दो बार प्री परीक्षा में असफलता के बाद भी नहीं हारी हिम्मत, तीसरे प्रयास में इंटरव्यू में 215 नंबर पाने वाली उम्मीदवार बनीं, टापर्स लिस्ट में पाया 9वां स्थान

Updated: Oct 01, 2021, 01:58 PM IST

डॉ. अपाला मिश्रा ने रचा इतिहास, UPSC इंटरव्यू में सबसे ज्यादा नंबर पाने का बनाया रिकॉर्ड
Photo Courtesy: Instagram

कहा जाता है कि जीतने वाले लोग कोई अलग काम नहीं करते, बल्कि उनके काम करने का तरीका आम लोगों से थोड़ा अलग होता है। उनका अलग ढंग से काम करना ही उन्हें विजेता बनाता है। कुछ दिनों पहले ही देश में प्रशासनिक सेवा की परीक्षा के नतीजे सामने आए। जिनमें सफलता-असफलता की सैकड़ों कहानियां लोगों को देखने और पढ़ने को मिलीं। हर कहानी का अपना अलग अंदाज। टॉप 10 में से 9वी रैंक पाने वाली टॉपर अपला मिश्रा आज किसी परिचय की मोहताज नहीं है। भले ही UPSC में उन्हें 9वीं रैंक हासिल हुई है। लेकिन इसके बाद भी उन्होंने इस परीक्षा के साक्षात्कार में सबसे ज्यादा नबंर पाने वाले उम्मीदवार का रिकॉर्ड बनाया है। अपाला मिश्रा से पहले इंटरव्यू में 212 अधिकतन स्कोर था, लेकिन अपला ने अपनी प्रतिभा और ज्ञान के बल पर 215 नंबर हासिल कर इतिहास रच दिया।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Apala Mishra (@apalamishra)

 

उनका कहना है कि उनका नंबर आखिरी दौर में था उन्हें लग रहा था कि ना जाने कितनी देर इंटरव्यू होगा। क्या पूछा जाएगा। वे इसे लेकर चिंतित थी, अपाला का कहना है कि उनका इंटरव्यू करीब 35 मिनट तक चला। जिसमे सबसे पहले उनके नाम का अर्थ पूछा गया। जिसका उन्होंने उत्तर दिया। जिससे पैनल के लोग प्रभावित हुए।

अपाला का यह तीसरा प्रयास था। इससे पहले वे दो बार प्री परीक्षा भी पास नहीं कर पाईं थी। वहीं कोरोना महामारी के इस दौर में उन्होंने दिनरात एक करके अपनी मंजिल तो पाई ही, साथ ही इतिहास रचने का काम कर दिया। डाक्टर अपाला मिश्रा ने गाजियाबाद की रहने वाली हैं।उनके पिता सेना में कर्नल हैं, और भाई मेजर, उनकी मां डीयू में हिन्दी की प्रोफेसर हैं। अपाला जाने माने साहित्यकार हजारी प्रसाद द्विवेदी की नातिन लगती हैं।

अपाला का कहना है कि खुद पर भरोसा रखना रखें, लगन और मेहनत से ही सफलता पाई जा सकती है। हर हाल में आत्मविश्वास बनाए रखना चाहिए।  

 

अपाला पेशे से एक डेंटिस्ट हैं, उन्होंने हैदराबाद के आर्मी कॉलेज ऑफ डेंटल साइंसेज से डेंटल सर्जरी में स्नातक किया है। इसके बाद उन्होंने सिविल सेवा में जाने का मन बनाया। वे साल 2018 से UPSC की तैयारी कर रही थीं। अब तीसरे प्रयास में रिकॉर्ड तोड़ कामयाबी हासिल की है। अपाला मिश्रा ने हाई स्कूल तक देहरादून से पढ़ाई की है। फिर दिल्ली से 11वीं और 12वीं की पढ़ाई की।

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Apala Mishra (@apalamishra)

डा. अपाला ने शुरुआती दौर में कोचिंग क्लास में दाखिला लिया। लेकिन बाद में उन्होंने सेल्फ स्टडी करने का फैसला लिया। उनका कहना है कि कोचिंग छात्रों को गाइड कर सकती है, लेकिन बाद में पढ़ाई स्वयं को करनी होती है। पहले प्रयास में उन्होंने सिलेबस को समझा और फिर अपनी असफलता से सीख लेते हुए कमजोरियों को दूर करती गईं। अपने प्लस प्वाइंट्स को लगातार अपडेट करती रहीं। मेडिकल साइंस की स्टूडेंट होने की वजह से उन्हें कई विषयों को सीखने में ज्यादा मेहनत करनी पड़ी। उनका कहना है कि वे रोजाना 7-8 घंटे की पढ़ाई का शेड्यूल पूरा करती थीं। अपाला का मानना है कि डेंटल की पढ़ाई के दौरान उन्हें लगा कि प्रशासनिक सेवा एक ऐसा क्षेत्र है जहां पर आप समाज के ज्यादा लोगों को सेवाएं दे सकते हैं, इसके बाद उन्होंने सिविल सेवा की परीक्षा देने का मन बनाया और रिकॉर्ड तोड़ सफलता हासिल की।