Congress: बीजेपी की मंत्री उषा ठाकुर ने आदिवासी संगठन जयस को कहा देशद्रोही, कांग्रेस विधायकों का धरना

Kamal Nath: आदिवासी संगठन को देशद्रोही बताने से पता चलती है आदिवासी समाज को लेकर बीजेपी की सोच, पार्टी को मंत्री के बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए

Updated: Sep 21, 2020 09:16 PM IST

Congress: बीजेपी की मंत्री उषा ठाकुर ने आदिवासी संगठन जयस को कहा देशद्रोही, कांग्रेस विधायकों का धरना

भोपाल। प्रदेश की कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर द्वारा शनिवार को एक कार्यक्रम में जय आदिवासी युवा शक्ति संगठन (जयस) को आतंकवादी संगठन बताने पर आदिवासी नेताओं के साथ कांग्रेस ने भी तीखी प्रतिक्रिया दी है। कांग्रेस विधायकों ने नेता प्रतिपक्ष कमल नाथ के साथ विधानसभा के बाहर गांधी प्रतिमा के समक्ष धरना दिया।

मंत्री उषा ठाकुर ने एक कार्यक्रम में सार्वजनिक रूप से आदिवासी समाज को देशद्रोही बताया है। सामाजिक कार्यकर्ता डॉ आनंद राय ने कहा है कि मैं मंत्री उषा ठाकुर को चुनौती देता हूं कि वे जयस को देशद्रोही संगठन साबित करें या आदिवासी समाज से सार्वजनिक माफी मांगें। डॉ राय ने उन्हें इस मुद्दे पर खुली बहस की चुनौती दी है। 

 

सलकनपुर निवासी विकास जाट ने जय आदिवासी युवा संगठन को फेसबुक पर आतंकवादी एवं देशद्रोही बताकर भड़काने वाली टिप्पणी की है। इससे संगठन के कार्यकर्ताओं में रोष व्याप्त है। 

पूर्व मंत्री सुरेंद्र सिंह हनी बघेल ने यह मामला विधानसभा के एक दिनी सत्र में भी उठाना चाहा था मगर उन्हें अनुमति नहीं मिली। उन्होंने कहा है कि भाजपा नेत्री व संस्कृति मंत्री ऊषा ठाकुर द्वारा आदिवासी संगठन जयस को देशद्रोही संगठन बताया जाने से भाजपा का आदिवासी समाज विरोधी चेहरा उजागर हुआ है। मंत्री ठाकुर को सार्वजनिक तौर पर आदिवासी समाज से माफी मांगना चाहिए। इस तरह के कृत्य आदिवासी समाज बर्दास्त नहीं करेगा। 

पूर्व मंत्री और विधायक ओमकार सिंह मरकाम ने कहा है कि भाजपा नेत्री व मप्र सरकार में मंत्री उषा ठाकुर द्वारा आदिवासी संगठन जयस को देशद्रोही संगठन बताया जाना भाजपा का आदिवासी समाज विरोधी चेहरा उजागर हुआ है। मंत्री उषा ठाकुर जी को सार्वजनिक तौर पर आदिवासी समाज से माफी मांगना चाहिए। इस तरह के कृत्य आदिवासी समाज बर्दास्त नहीं करेगा।