सौ फीसदी छात्रों का हुआ प्लेसमेंट, IIM इंदौर की बड़ी उपलब्धि

2022 बैच में 575 छात्र पढ़ रहे थे, सभी छात्रों का विभिन्न कंपनियों में प्लेसमेंट हुआ है

Updated: Jan 20, 2021, 08:56 PM IST

सौ फीसदी छात्रों का हुआ प्लेसमेंट, IIM इंदौर की बड़ी उपलब्धि
Photo Courtesy: Facebook

इंदौर/भोपाल। कोरोना महामारी के बीच जारी आर्थिक तंगहाली के बीच IIM इंदौर ने नया कीर्तिमान स्थापित किया है। संस्थान में अध्ययनरत सभी छात्रों का विभिन्न कंपनियों में प्लेसमेंट हुआ है। IIM इंदौर ने अपनी प्लेसमेंट रिपोर्ट जारी की है। जिसमें संस्थान की उपलब्धि का पता चला है। 

IIM इंदौर की प्लेसमेंट रिपोर्ट के मुताबिक शैक्षणिक संस्थान में 2022 बैच में कुल 575 छात्र अध्ययनरत थे। इन छात्रों का अमेज़न, एशियन पेंट्स, बजाज ऑटो, HSBC बैंक, ICICI बैंक, हिन्दुस्तान यूनिलीवर जैसी लगभग 6 दर्जन विभिन्न कंपनियों में प्लेसमेंट हुआ है। संस्थान द्वारा जारी प्लेसमेंट रिपोर्ट के मुताबिक विषम परिस्थितियों के बावजूद प्लेसमेंट के लिए 70 से ज़्यादा कंपनियों ने संस्थान का रुख किया था। 

ज़्यादा स्टाइपेंड पर हुआ चयन 

IIM इंदौर में सौ फीसदी छात्रों का प्लेसमेंट होना उपलब्धि तो है ही, लेकिन इसके साथ साथ खास बात यह है कि इस मर्तबा प्लेस हुए छात्रों को पिछली बार के मुकाबले अधिक स्टाइपेंड मिलेगा। संस्थान में अध्ययनरत छात्रों को औसत तौर पर पहले दो महीने की इंटर्नशिप के दौरान 1.83 लाख रुपये प्रति माह मिलेंगे। जबकि पिछले वर्ष यह औसत स्टाइपेंड 1.68 लाख रुपए था। हालांकि औसत स्टाइपेंड से इतर सर्वाधिक स्टाइपेंड में इस दफा पिछले वर्ष के मुकाबले गिरावट देखने को मिली है। पिछले वर्ष सर्वाधिक स्टाइपेंड 4 लाख रुपए था, लेकिन इस मर्तबा यह 3.2 लाख रुपए ही रहा। 

IIM के डायरेक्टर हिमांशु राय संस्थान के इस प्रदर्शन से खुश हैं। राय कहते हैं कि सारी दुनिया इस वक्त कोरोना महामारी से जूझ रही है। ऐसे चुनौतीपूर्ण समय में भी कंपनियों ने उनके स्टूडेंट्स पर भरोसा जताया है, ये बड़ी कामयाबी है। राय का कहना है कि इंडस्ट्री के सहयोग से ही IIM विश्व स्तरीय सिलेबस तैयार करता है। उन्होंने कहा कि हम इंडस्ट्री के साथ अपने संबंध को और मज़बूत बनाने की कोशिश जारी रखेंगे।