स्वच्छता अवॉर्ड्स: स्वच्छ शहरों में इंदौर नंबर वन, भोपाल फिर से बना बेस्ट सेल्फ सस्टेनेबल कैपिटल

इंदौर लगातार पांचवीं बार रहा नंबर वन, राजधानी भोपाल सातवें पर, नई श्रेणी सफाई मित्र चैलेंज में इंदौर पहला और भोपाल तीसरा, ग्वालियर, जबलपुर को टॉप 20 में स्थान

Updated: Nov 20, 2021, 04:29 PM IST

स्वच्छता अवॉर्ड्स: स्वच्छ शहरों में इंदौर नंबर वन, भोपाल फिर से बना बेस्ट सेल्फ सस्टेनेबल कैपिटल

इंदौर/भोपाल। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर ने लगातार पांचवीं बार सबसे स्वच्छ शहर होने का खिताब अपने नाम किया है। वहीं राजधानी भोपाल सातवें नंबर पर खिसक गया है। शनिवार को दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में आयोजित स्वच्छता अवार्ड्स कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इंदौर को नंबर वन की उपलब्धि के लिए सम्मानित किया। इंदौर ने अलग अलग श्रेणियों में मिलने वाले कुल 3 पुरस्कार अपने नाम किए हैं। यहां तक कि पहली बार घोषित सफाई मित्र अवार्ड भी इंदौर को मिला है। 

अवार्ड समारोह में राष्ट्रपति से सम्मान ग्रहण करने के लिए इंदौर निगमायुक्त प्रतिमा पल, निगम प्रशासन पवन कुमार शर्मा व जिला कलेक्टर मनीष सिंह सांसद शंकर लालवानी वी विभागीय मंत्रियों सहित नई दिल्ली पहुंचे थे। इंदौर को फाइव स्टार कैटेगरी सहित तीन अवॉर्ड्स मिले हैं। केंद्र सरकार अब तक सेवन स्टार के तहत सम्मानित करती थी लेकिन इस बार फाइव स्टार श्रेणी को भी सूची में लाया गया है। इंदौर को सफाई मित्र चैलेंज के तहत 12 करोड़ रुपए की राशि से सम्मानित किया गया। 

यह भी पढ़ें: कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ देश का सबसे स्वच्छ राज्य घोषित, CM बघेल बोले- तालियां रुकनी नहीं चाहिए

इस सम्मान समारोह के प्रसारण के लिए इंदौर के अलग अलग हिस्सों में तैयारियां की गई थी ताकि सभी सफाई कर्मचारी, सफाई मित्र व जनता इसका सीधा प्रसारण देख सकें। खजराना गणेश मंदिर, हनुमान मंदिर, राजबाड़ा, पलसिया सेल्फी प्वाइंट, मेघदूत उपवन, रेलवे स्टेशन, निगम कार्यालय इत्यादि जगहों पर कार्यक्रम का 11 भी से 1.30 बजे तक सीधा प्रसारण दिखाया जा रहा है और साथ ही स्थानीय सफाई मित्रों को सम्मानित भी किया जा रहा है। 

भोपाल बेस्ट सेल्फ सस्टेनेबल कैपिटल

उधर राजधानी भोपाल जहां 2017 में इंदौर के बाद शहरों की स्वच्छता सूची में दूसरे स्थान पर थी वो अब नीचे खिसक कर सातवें स्थान पर पहुंच चुकी है। हालांकि, पिछले साल से ही यह यथास्थिति बनी हुई है। इस बार भोपाल को इस श्रेणी में 6000 में से 4783.53 अंक मिले हैं। हालांकि भोपाल को पिछले साल की तरह इस साल भी बेस्ट सेल्फ सस्टेनेबल कैपिटल के रूप में सम्मानित किया गया है। सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज में भोपाल तीसरे नंबर पर है।भोपाल को तीसरे नंबर पर आने के लिए 3 करोड़ की राशि दी गई जिसे प्राप्त करने आयुक्त केवीएस चौधरी दिल्ली पहुंचे थे। 

यह भी पढ़ें: भारतीय मूल की कमला हैरिस ने रचा इतिहास, 85 मिनट के लिए बनीं अमेरिकी राष्ट्रपति

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मौके पर खुशी जाहिर की है। सीएम ने ट्वीट किया, 'अरे वाह भिया, छा गया अपना इंदौर फिर से इंदौर अद्भुत है, गजब है। धन्य है इंदौर की जनता,इंदौर की जनता को मेरा प्रणाम, जिन्होंने इंदौर को लगातार 5वीं बार स्वच्छता में शीर्ष पर बनाए रखा। बधाई जनप्रतिनिधियों को,सांसद,विधायक, प्रशासन,स्वच्छता कर्मियों, स्वयंसेवी संगठनों को। बधाई इंदौर। मेरा मन आनंद से भरा है।' 

मध्य प्रदेश को सिटीजन फीडबैक में दूसरा स्थान

स्वच्छता सर्वेक्षण के ऐप फीडबैक की श्रेणी में भी मध्य प्रदेश को दूसरा स्थान मिला है। इस श्रेणी में उत्तर प्रदेश ने सबसे अधिक फीडबैक के साथ पहला स्थान हासिल किया है। बता दें कि कोरोना महामारी के चलते केंद्र सरकार ने इसबार रिकॉर्ड 28 दिन में  स्वच्छता सर्वे करवाया जिसमें देशभर के 4,320 शहरों ने हिस्सा लिया। बता दें कि 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में इंदौर और भोपाल के अलावा मध्य प्रदेश के जबलपुर और ग्वालियर को भी टॉप 20 शहरों में जगह मिली है।