इंदौर में अग्निपथ स्कीम के खिलाफ आक्रोश, रेलवे स्टेशन पर सैंकड़ों युवकों ने किया हंगामा, दो ट्रेनें निरस्त

केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ कई राज्यों के छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं, मध्य प्रदेश में आज दूसरे दिन भी छात्रों का गुस्सा देखने को मिला, इंदौर में सैंकड़ों छात्र रेलवे स्टेशन पर कर रहे हैं प्रदर्शन

Updated: Jun 17, 2022, 10:49 AM IST

इंदौर में अग्निपथ स्कीम के खिलाफ आक्रोश, रेलवे स्टेशन पर सैंकड़ों युवकों ने किया हंगामा, दो ट्रेनें निरस्त

इंदौर। केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना का देशभर में विरोध हो रहा है। मध्य प्रदेश के इंदौर में आज दूसरे दिन भी युवा इस योजना के खिलाफ सड़कों पर उतर आए हैं। यहां रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार सुबह 7 बजे सेना भर्ती में पहुंचे युवाओं ने हंगामा कर दिया। सूचना के बाद यहां ड्यूटी पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने हल्का बल प्रयोग किया। मौके पर आसपास के थानों का बल भी लगाया गया है। इसके बाद छात्र इकट्ठा होकर लक्ष्मीबाई नगर स्टेशन पर पहुंच गए। स्टेशन पर छात्रों ने जाम लगा दिया और पुणे से इंदौर आने वाली ट्रेन भी रोक दी। 

छात्रों का प्रदर्शन देखते हुए इंदौर से उज्जैन जाने वाली मेमू सहित दो ट्रेनों को निरस्त किया गया है। दरअसल, युवक सुबह प्रदर्शन करने पहुंचे तो पुलिस ने आगे जाने से रोका था। इस दौरान वे हंगामा मचाने लगे। कुछ देर बाद यहां भारी फोर्स तैनात किया गया।

इंदौर के पास महू में सेना ने इसके लिए पूरी व्यवस्था संभाल रखी है। गुरुवार को कमिश्नर ने भी कोंचिग संचालकों से बात कर सेना भर्ती के लिए जाने वाले छात्रों को महू भेजने पर रोक लगा दी थी। अधिकारियों के मुताबिक जो छात्र रेलवे स्टेशन पर पहुंचे थे। वह दूसरे जिले के रहने वाले हैं। विरोध के बीच सरकार ने गुरुवार देर रात अग्निपथ स्कीम की एज लिमिट पहले साल के लिए 21 साल से बढ़ाकर 23 साल कर दी है। 

केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने प्रदर्शनकारी छात्रों से बवाल न करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि दो साल से सेना में भर्ती का अवसर नहीं मिल पाया है। इससे भर्ती प्रक्रिया रुकी हुई है। यही सोचकर सरकार ने अभी अग्निवीरों की भर्ती के लिए उम्र सीमा दो साल बढ़ा दी गई है। युवाओं से अपील है कि वह विरोध न करें, भर्ती की तैयारी करें।