Assam Elections: चुनाव से पहले सियासी हो रहे हैं कलाकार

Anti NRC Activists: असम में विधानसभा चुनाव से पहले सीएए विरोधी 30 कलाकारों ने थामा बीजेपी का हाथ, 34 कलाकार कांग्रेस में हुए शामिल

Updated: Aug-26, 2020, 09:13 PM IST

Assam Elections:  चुनाव से पहले सियासी हो रहे हैं कलाकार
Photo Courtesy: The Hindu

गुवाहाटी। असम में बीजेपी के नागरिकता संशोधन अधिनियम ( CAA ) का विरोध करने वाले कलाकारों ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली है। मंगलवार को पार्टी मुख्यालय में राज्य के 30 से ज़्यादा कलाकार बीजेपी में शामिल हो गए। हालांकि मंगलवार को ही कुल 34 कलाकारों ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया। 

बीजेपी में शामिल होने वालों में दीपक शर्मा, गायक सीमांत शेखर, अभिनेत्री प्रांजना दत्ता, और फैशन डिजाइनर रीतिका हजारिका शामिल हैं। बीजेपी में शामिल होने वाले शेखर ने तीन पड़ोसी देशों पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के केवल गैर मुस्लिमों की नागरिकता देने वाले कानून के खिलाफ बीजेपी का विरोध किया था। हालांकि शेखर 2019 के लोकसभा चुनावों के दौरान राज्य में बीजेपी का अभियान गीत ' अकाउ अबार मोदी सरकार ( मोदी सरकार , फिर एक बार ) गया था।' 

इस बार मिशन 100 
असम बीजेपी के प्रमुख रणजीत कुमार दास का कहना है कि 2016 में हमारा मिशन 84 ( 126 में से ) था। लेकिन 2021 में हम मिशन 100 के साथ मैदान में उतरेंगे। कलाकारों के बीजेपी में शामिल होने पर दास ने कहा है कि हम पार्टी में कलाकारों का तहे दिल से स्वागत करते हैं। बीजेपी पार्टी होने के साथ साथ एक मिशन भी है। 

लोग कांग्रेस के माध्यम से राहत मांग रहे हैं
उधर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रिपुन बोरा ने रणजीत कुमार दास के मिशन सौ के दावे को खारिज करते हुए कहा है कि लोगों ने बीजेपी को परिवर्तन के नारे पर स्वीकृति प्रदान कर दी थी। लेकिन इस दफा लोग बीजेपी से राहत के लिए कांग्रेस को लाना चाहते हैं। कांग्रेस में शामिल हुए गायक बाबू बरूआ बताते हैं कि कांग्रेस ने ही उन्हें सीएए के खिलाफ आवाज उठाने के लिए एक खुला मंच प्रदान किया। यही वजह रही कि वे कांग्रेस में शामिल हो गए। बोरा ने प्रदेश अध्यक्ष रिपुन बोरा और प्रदेश प्रभारी हरीश रावत का आभार व्यक्त किया।