राजनांदगांव के बीजेपी जिला कार्यकारिणी सदस्य ने फांसी लगाकर दी जान, ब्लैंकमेलिंग और कर्ज से तंग आकर उठाया कदम

बीजेपी नेता और जानेमाने ठेकेदार संजीव जैन ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली, पुलिस का दावा महिला द्वारा ब्लैकमेलिंग से थे परेशान, परिजनों ने कहा कर्जा नहीं चुका पाने से थे दुखी

Updated: Aug 11, 2021, 04:18 PM IST

राजनांदगांव के बीजेपी जिला कार्यकारिणी सदस्य ने फांसी लगाकर दी जान, ब्लैंकमेलिंग और कर्ज से तंग आकर उठाया कदम
Photo Courtesy: janta se rishta

राजनांदगांव। बीजेपी जिला कार्यकारिणी के सदस्य संजीव जैन ने खुदकुशी कर ली है। अब इस केस में नया खुलासा हुआ है। खबरों की मानें तो संजीव मेरठ निवासी किसी महिला से परेशान थे। महिला उन्हें किसी बात को लेकर ब्लैकमेल कर रही थी। वे उसे 2 करोड़ से ज्यादा की पेमेंट कर चुके थे। फिर भी वह लगातार पैसों की डिमांड कर रही थी। उसे पैसे देने के लिए उन्होंने बाजार से कर्जा समेत अपनी प्रापर्टी भी बेच दी थी। पुलिस को उनके कमरे से एक सुसाइड नोट भी मिला है। उसमें क्या लिखा है, उसका खुलासा पुलिस ने नहीं किया है।

बीजेपी से जुड़े होने के साथ-साथ संजीव जैन ठेकेदारी का काम करते थे। बीजेपी शासन काल के दौरान उन्होंने खूब पैसा कमाया था। कांग्रेस सरकार आने के बाद काम मिलना कम हो गया था। संजीव के परिजनों का दावा है कि उनकी ठेकेदारी का काम ठीक नहीं चलने की वजह से उन्होंने कर्ज लिया था। जिसे समय पर चुका नहीं पाने से वे परेशान थे। मंगलवार रात संजीव ने अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी। संजीव मंगलवार शाम बाहर से लौटे, सबके साथ बैठकर उन्होंने चाय पी। फिर थोड़ी देर बाद वे अपने अपने कमरे में चले गए।

डिनर तक वे वापस नहीं लौटे तो परिजनों ने आवाज लगाई, लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। घरवालों ने दरवाजा खोलने की कोशिश की, लेकिन कमरा भीतर से लॉक था। काफी मशक्कत करने के बाद भी दरवाजा नहीं खुलने के बाद घरवालों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़ा, जहां संजीव जैन फांसी पर लटके मिले। पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट भी मिला है। शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है। वहीं पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। मामले की जांच जारी है।