प्री-करवाचौथ में मुस्लिम MLA को बुलाने पर बवाल, भाजपा प्रवक्ता ने किए नफरती पोस्ट

भोपाल में आयोजित प्री-करवाचौथ सेलिब्रेशन में पहुंचे थे कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद, सांप्रदायिक नफरत फ़ैलाने में जुटी बीजेपी

Updated: Oct 13, 2022, 04:24 PM IST

प्री-करवाचौथ में मुस्लिम MLA को बुलाने पर बवाल, भाजपा प्रवक्ता ने किए नफरती पोस्ट

भोपाल। वैसे तो क्षेत्र की जनता के सुख-दुख में शामिल होना जनप्रतिनिधियों का कर्तव्य होता है। लेकिन बीजेपी शासित मध्य प्रदेश में कांग्रेस विधायक को लोगों की खुशियों में शामिल होना भारी पड़ गया। दरअसल, राजधानी भोपाल में प्री-करवाचौथ सेलिब्रेशन आयोजित किया गया था। इसी कार्यक्रम में मुस्लिम समुदाय से आने वाले कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद शामिल हुए थे। अब इसे लेकर बीजेपी ने हंगामा शुरू कर दिया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक प्री-करवाचौथ का यह कार्यक्रम "NH 12 क्रिएटिव विमेंस क्लब" द्वारा मंगलवार को बोर्ड ऑफिस के पास स्थित मोटेल सिराज में आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम का उद्देश्य महिलाओं और गृहणियों का हौसला अफजाई करना था। स्थानीय विधायक होने के नाते आरिफ मसूद को भी कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया था। कांग्रेस विधायक इस कार्यक्रम में पहुंचे और उन्होंने महिलाओं को सम्मानित किया।

यह भी पढ़ें: अत्याचार तो बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेंगे, उठाओ बंदूक, प्रीतम लोधी समर्थकों ने लहराई बंदूकें

लेकिन एक मुस्लिम प्रतिनिधि को हिंदुओं ने अपने कार्यक्रम में बुलाया यह बात सत्ताधारी दल को नागवार गुजरी। बीजेपी प्रवक्ता तत्काल सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने वाले पोस्ट्स शेयर करने लगे। भाजपा प्रवक्ता नेहा बग्गा ने लिखा कि, 'संस्कृति परंपरा एवं अखंड सौभाग्य के पर्व करवाचौथ का ये दृश्य दुर्भाग्यपूर्ण है। रानी पद्मावती सहित हज़ारों वीरांगनाओं ने जौहर कुंड में क्या इस दिन के लिए अपने प्राणों की आहुति दी थी? हिन्दूओं अभी भी वक्त हैं जाग जाओ नहीं तो तुम्हारा/हमारा धर्म, संस्कार, सभ्यता ये सब खा जाएंगे।'

नेहा बग्गा ने आगे लिखा कि, 'इस पहनावे में प्री करवा चौथ करके ऐसे हिन्दू विरोधी मुस्लिम विधायक को आमंत्रित करके.. हजारों नारियों का अपमान बिलकुल बर्दाश्त नहीं..!! यह पौशाक एक परंपरा और साहस की गाथा हैं, यह पौशाक हमारे पुर्वजों का मान हैं, 
यह पौशाक सनातन संस्कृति के पहनावे का अभिमान हैं, यह पौशाक प्रतीक हैं उस समाज का, जिन्होंने बलिदान दिया हैं, जीवन पर्यन्त विदेशी आक्रांताओं से लड़ते हुए।'

इतना ही नहीं एक अतिवादी हिंदू संगठन ने विधायक आरिफ मसूद और आयोजकों के खिलाफ एफआईआर की मांग भी की है। मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए विधायक आरिफ मसूद ने कहा कि, 'वे दिलों में नफरत का बीज बो रहे हैं, हम प्यार का पैगाम फैला रहे हैं। नफरत की हमेशा हार होती है। हम अपने बहनों के बीच गए थे। रक्षा बंधन पर ये बहनें मुझे राखी भी बांधती हैं। दो समुदायों के बीच सद्भाव भाजपाइयों से देखा नहीं जाता। हमारे नेता राहुल गांधी नफरत को जड़ से खत्म करने के लिए "भारत जोड़ो यात्रा" पर निकले हैं। इन विभाजनकारी ताकतों के मंसूबे कभी पूरे नहीं होंगे।'