निकाय चुनाव रिजल्ट: रीवा में 24 साल बाद कांग्रेस की ऐतिहासिक जीत, मंत्री तोमर का गढ़ मुरैना भी ढहा, कटनी में निर्दलीय महापौर

मध्य प्रदेश में निकाय चुनाव के दूसरे चरण में हुए 5 नगर निगम मुरैना, रतलाम, कटनी, देवास और रीवा चुनाव के नतीजे आ गए हैं। कांग्रेस ने रीवा और मुरैना में बड़ी जीत हासिल की है, वहीं कटनी में बीजेपी की बागी निर्दलीय प्रत्याशी महापौर बनी, सत्ताधारी दल बीजेपी सिर्फ देवास और रतलाम तक सिमटकर रह गई है

Updated: Jul 21, 2022 09:44 AM IST

भोपाल। निकाय चुनाव के दूसरे चरण के नतीजों ने भी बीजेपी को बड़ा झटका दिया है। सत्ताधारी दल के हाथ से तीन और नगर निगम छिन गई है। कांग्रेस ने मुरैना और रीवा में कब्जा जमाया है। जबकि कटनी से बीजेपी की ही बागी होकर निर्दलीय चुनावी मैदान में आई प्रत्याशी ने जीत दर्ज की है।

अजय मिश्रा रीवा से महापौर निर्वाचित

अजय मिश्रा रीवा से महापौर निर्वाचित

रीवा से कांग्रेस प्रत्याशी अजय मिश्रा बाबा चुनाव जीत गए हैं। उन्हें 10 हजार 282 वोटों से जीत मिली। कांग्रेस पार्टी ने इसे जनता की जीत बताया है। मिश्रा को 47 हजार 987 मत प्राप्त हुए वहीं उनके प्रतिद्वंदी भाजपा प्रत्याशी प्रबोध व्यास को 37 हजार 705 वोट मिले। आम आदमी पार्टी 8 हजार 387 वोट के साथ तीसरे स्थान पर रही। यहां 24 साल बाद कांग्रेस महापौर पद जीत पाई है। 

शारदा सोलंकी मुरैना की महापौर निर्वाचित

शारदा सोलंकी मुरैना की महापौर निर्वाचित

मुरैना में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के गढ़ में कांग्रेस का मेयर होगा। नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस की मेयर प्रत्याशी शारदा सोलंकी ने भाजपा की मीना जाटव को 12,874 वोटों से हराया है। कांग्रेस प्रत्याशी को 54,277 भाजपा को 41,403 वोट मिले हैं। निगम बोर्ड में 10 पार्षद कांग्रेस, 9 पार्षद बीजेपी और अन्य के 10 पार्षद जीते हैं।

प्रीति सूरी कटनी महापौर निर्वाचित

प्रीति सूरी कटनी महापौर निर्वाचित

कटनी में निर्दलीय महापौर प्रत्याशी प्रीति सूरी की जीत हुई है। प्रीति सूरी बीजेपी की बागी प्रत्याशी हैं। उन्होंने 45648 वोट पाकर 5 हजार से ज्यादा वोटों से बीजेपी प्रत्याशी ज्योति दीक्षित को शिकस्त दी। शहर के 45 वार्डों में से 27 पर बीजेपी ने जीत हासिल की हैं जबकि 15 पर कांग्रेस ने कब्जा जमाया है।

गीता अग्रवाल देवास महापौर निर्वाचित

गीता अग्रवाल देवास महापौर निर्वाचित

देवास नगर निगम में एक बार फिर BJP ने अपना कब्जा जमाया है। देवास से पार्टी की महापौर प्रत्याशी गीता अग्रवाल ने 45 हजार 884 वोटों से जीत दर्ज की है। गीता को 89 हजार 502 प्राप्त हुए। वहीं कांग्रेस की विनोदनी व्यास को महज 43 हजार 618 वोट मिले हैं। देवास शहर में बीजेपी ने निगम की 45 वार्डों में से 31 सीटें जीत ली हैं। कांग्रेस फिलहाल सिर्फ 08 वार्डों में जीत हासिल कर सकी है। इसके अलावा 06 निर्दलीय उम्मीदवारों की जीत हुई है।

प्रह्लाद पटेल रतलाम से महापौर

प्रह्लाद पटेल रतलाम से महापौर

रतलाम से भाजपा के महापौर प्रत्याशी प्रह्लाद पटेल चुनाव जीतने में कामयाब रहे। उन्होंने 8 हजार 591 वोटों से अपने प्रतिद्वंदी कांग्रेस प्रत्याशी मयंक जाट को शिकस्त दी। रतलाम शहर के 49 वार्डों में 30 में भाजपा और 15 में कांग्रेस ने जीत दर्ज की है। जानकी 4 सीट निर्दलीय प्रत्याशियों के खाते में गई है।

 

30 सालों बाद रीवा में कांग्रेस की ऐतिहासिक जीत

मध्य प्रदेश के रीवा नगर निगम में 30 साल बाद कांग्रेस की ऐतिहासिक जीत हुई है। यहां कांग्रेस के महापौर प्रत्याशी अजय मिश्रा बाबा ने करीब 9 हजार वोटों से जीत दर्ज की है। रीवा में सीएम शिवराज सिंह चौहान दो बार प्रचार करने पहुंचे थे। भाजपा के लिए यह बड़ा झटका माना जा रहा है।

राजगढ़ में कांग्रेस का कब्जा

राजगढ़ जिले के नरसिंहगढ़ नगर पालिका में कांग्रेस ने कब्जा जमाया है। यहां कांग्रेस के 9 और भाजपा के 4 जीते, जबकि निर्दलीय 1 और आम आदमी पार्टी काे 1 सीट मिली। राजगढ़ दिग्विजय सिंह का गढ़ माना जाता है।

रीवा में कांग्रेस को बड़ी लीड

रीवा में कांग्रेस प्रत्याशी अजय मिश्रा ने बड़ी लीड ली है। वे पांचवें राउंड के बाद से 9 हजार वोट से आगे चल रहे हैं। यहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने भाजपा प्रत्याशी प्रबोध व्यास के लिए दो बार सभा की थी। यहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाना शुरू कर दिया है। 

दंगा प्रभावित खरगोन में AIMIM कि एंट्री

बुरहानपुर के बाद दंगा प्रभावित खरगोन में भी असदुद्दीन ओवैसी की एंट्री हो चुकी है। AIMIM ने यहां भी कांग्रेस का खेल बिगाड़ दिया। खरगोन नगर पालिका के कुल वार्ड 33 में बीजेपी को 19 सीटों पर जीत हुई है, जबकि कांग्रेस महज 04 सीटों पर सिमट गई। यहां Aimim 03 aur 07 निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है।

छिंदवाड़ा की चौरई में कांग्रेस 6 सीटों पर सिमटी

कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा की चौरई नगर पालिका में कांग्रेस 6 सीटों पर सिमटकर रह गई है। यहां 9 सीटों पर बीजेपी ने कब्जा जमाया है।

रतलाम में बीजेपी आगे

रतलाम में पहले चरण की गणना में बीजेपी प्रत्याशी प्रहलाद 1302 वोटों से आगे चल रहे हैं। रतलाम पहला राउंड भाजपा को 14363 जबकि कांग्रेस 1361 मत प्राप्त हुए हैं। दूसरे चरण में भी बीजेपी प्रत्याशी 2500 मतों से आगे चल रहे हैं। यहां कुल छह चरणों में मतों की गिनती होगी।

आरोन में कांग्रेस का जलवा

आरोन में कांग्रेस ने एकतरफा जीत दर्ज की है। यहां 15 वार्डों में से भाजपा को केवल 3 सीटें ही मिली हैं। 12 पर कांग्रेस ने अपना कब्जा जमाया है। यह राघोगढ़ विधानसभा का इलाका है। यहां से पूर्व CM दिग्विजय सिंह के पुत्र जयवर्धन सिंह विधायक हैं।

रीवा और मुरैना में कांग्रेस आगे

रीवा नगर निगम चुनाव में प्रथम चरण की काउंटिंग के बाद कांग्रेस के महापौर प्रत्याशी अजय मिश्रा बाबा करीब 27 मतों से आगे हैं। उन्हें 10 हजार 826 वोट जबकि भाजपा उम्मीदवार प्रबोध व्यास को 8035 वोट प्राप्त हुए हैं। रीवा में सीएम शिवराज ने दो जनसभा की थी। उधर मुरैना में भी मुरैना में कांग्रेस प्रत्याशी शारदा सोलंकी 3500 वोट से आगे हैं।

रीवा में फंसा पेंच

रीवा नगर निगम पर पिछले 24 साल से बीजेपी का कब्जा रहा है, लेकिन इस बार यहां कांग्रेस ने पेंच फंसा दिया है। यहां कांग्रेस ने अजय मिश्रा वहीं बीजेपी में प्रबोध व्यास को अपना उम्मीदवार बनाया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रीवा में प्रचार करने दो बार पहुंचे थे। कांग्रेस और BJP में सीधी टक्कर रही। आम आदमी पार्टी, बसपा, सपा कैंडिडेट्स भी मैदान में हैं।

रतलाम ने कांटे की टक्कर

रतलाम में बीजेपी के प्रहलाद पटेल और कांग्रेस के मयंक जाट के बीच मुकाबला है। पटेल के लिए बीजेपी के बागी उम्मीदवार अरुण राव के मैदान में होने से इस चुनावी टक्कर को कठिन बना दिया। आम आदमी पार्टी के अनवर खान, समाजवादी पार्टी की आफरीन खान, नेशनलिस्ट पार्टी के जहीरुद्दीन समेत 7 उम्मीदवार मैदान में हैं।