MP जिपं अध्यक्ष चुनाव: भोपाल में बड़े स्तर पर धांधली का आरोप, चुनाव आयोग में कांग्रेस ने की शिकायत

भोपाल में जिला पंचायत चुनाव को लेकर हाई लेवल पॉलिटिकल ड्रामा, कांग्रेस की रामकुंवर को बीजेपी ने बनाया अपना कैंडिडेट, दिग्विजय सिंह जिला पंचायत के बाहर मौजूद, सीएम चौहान पर लगाया कांग्रेस उम्मीदवारों को कैद करने का आरोप

Updated: Jul 30, 2022 08:55 AM IST

भोपाल। मध्य प्रदेश में जिला पंचायत का चुनाव शुरू हो चुका है। छिंदवाड़ा में कांग्रेस उम्मीदवार संजय पोन्हार निर्विरोध ज़िला पंचायत अध्यक्ष निर्वाचित हुए हैं। उधर नर्मदापुरम में भी जिपं अध्यक्ष पद पर कांग्रेस ने कब्जा जमाया है। यहां कांग्रेस समर्थित राधाबाई सुधीर पटेल केवल 1 वोट से जीतीं। रायसेन में जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर कांग्रेस से भाजपा में आए जसवंत बबलू मीणा निर्विरोध चुने गए। इधर राजधानी भोपाल में विवाद की स्थिति उत्पन्न हो गई है।

राजगढ़ में भी जीती कांग्रेस

राजगढ़ जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव में कांग्रेस ने जीत दर्ज की है। यहां कांग्रेस उम्मीदवार चंदर सिंह सोंधिया को 11 मत प्राप्त हुए जबकि बीजेपी के पाले में महज 6 मत आए। यहां एक वोट निरस्त भी किया गया।

झाबुआ, अनूपपुर और दमोह में जीती कांग्रेस

झाबुआ, अनूपपुर और दमोह में भी कांग्रेस ने जीत दर्ज की है। दमोह ज़िला पंचायत चुनाव में कांग्रेस की रंजीता पटेल अध्यक्ष निर्वाचित हुईं। झाबुआ ज़िला पंचायत चुनाव कांग्रेस की सोनल जसवंत सिंह भाबर ज़िला पंचायत अध्यक्ष निर्वाचित हुईं। जबकि अनूपपुर ज़िला पंचायत चुनाव में कांग्रेस की प्रीति रमेश सिंह ज़िला पंचायत अध्यक्ष निर्वाचित हुईं। 

भोपाल रामकुंवर गुर्जर अध्यक्ष निर्वाचित

भोपाल रामकुंवर गुर्जर अध्यक्ष निर्वाचित

भोपाल जिला पंचायत में आखिरकार कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी की हार हुई है। यहां कांग्रेस से पाला बदलकर भाजपा उम्मीदवार बनी रामकुंवर गुर्जर ने जीत दर्ज की है। उन्हें 10 में से 6 वोट मिले। जबकि कांग्रेस की अधिकृत प्रत्याशी रशिम भार्गव को 4 वोट मिले हैं। पंचायत कार्यलय के बाहर अब भी गहमागहमी का माहौल है।

कांग्रेस ने कलेक्टर को बताया लोकतंत्र का हत्यारा

भोपाल जिला पंचायत चुनाव में हो रही धांधली को लेकर कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा ने तल्ख टिपण्णी की है। उन्होंने ट्वीट किया, 'लोकतंत्र की हत्या करने के लिए तैनात भाड़े के हत्यारे यानी कलेक्टर और एससीपी (भोपाल) इतनी मशक्कत से तो बेहतर होगा कि भाजपा को निर्विरोध ही घोषित कर दीजिए।'

कांग्रेस प्रत्याशियों को वोट करने से रोका: पीसी शर्मा

भोपाल जिला पंचायत चुनाव में बड़े स्तर पर धांधली की खबर आ रही है। यहां पहले बीजेपी नेताओं को मतदान केंद्र में घुसने दिया गया। उसके बाद अब जानकारी मिल रही है कि कांग्रेस के निर्वाचित सदस्यों को वोट नहीं देने दिया जा रहा है। कांग्रेस के दावा है कि हमारे सदस्यों के बदले बीजेपी नेताओं ने वोटिंग की है।

चुनाव में धांधली पर भड़के दिग्विजय सिंह

भोपाल जिला पंचायत चुनाव में धांधली पर दिग्विजय सिंह ने नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि जब यही करना है तो चुनाव क्यों कराते हैं? यह मोदी शाह का डेमोक्रेसी मॉडल है।

सिंगरौली से कांग्रेस के सोनम सिंह विजयी

सिंगरौली जिला पंचायत चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार सोनम सिंह ने जीत दर्ज की है। उन्हें 10 मत प्राप्त हुए जबकि बीजेपी समर्थित सत्यवती को महज 4 वोट ही मिले।

सीहोर: बीजेपी के गोपाल सिंह अध्यक्ष निर्वाचित

सीएम शिवराज सिंह के गृह जिला सीहोर में आखिरकार बीजेपी प्रत्याशी की जीत हुई। इससे पहले कल यहां कांग्रेस ने अपने सदस्यों कि किडनैपिंग का आरोप लगाया था। बीजेपी के गोपाल सिंह को 11 जबकि कांग्रेस के शंशाक सक्सेना को 6 मत प्राप्त हुए।

देवास कांग्रेस की लीला अटारिया अध्यक्ष निर्वाचित

देवास जिला पंचायत चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी लीला अटारिया ने जीत दर्ज की है। उन्होंने कुल 18 में से 11 मत प्राप्त हुआ।

पुलिस संरक्षण में लोकतंत्र की हत्या: कांग्रेस

राजधानी भोपाल में मतदान केंद्र के भीतर बीजेपी नेताओं की एंट्री पर कांग्रेस में तीखी प्रतिक्रिया दी है। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट किया, 'पुलिस संरक्षण में लोकतंत्र की हत्या। भोपाल के बीजेपी विधायक मतदान केन्द्र में सदस्य को लेकर घुस रहे हैं, पुलिस इस दुष्कर्म की मददगार बन रही है। शिवराज जी, ये नंगा नाच जनता देख रही है।'

भोपाल में हाई लेवल पॉलिटिकल ड्रामा

डिंडोरी जिला पंचायत में कांग्रेस प्रत्याशी रुदेश परस्ते ने जीत दर्ज की है। यहां टॉस से फैसला हुआ। बीजेपी की ओर से पूर्व कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे की पत्नी ज्योति प्रकाश धुर्वे दावेदार थी। ज्योति धुर्वे लगातार दो बार से जिला पंचायत अध्यक्ष रह चुकी हैं। इस बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

डिंडोरी में कांग्रेस का कब्जा

डिंडोरी जिला पंचायत में कांग्रेस प्रत्याशी रुदेश परस्ते ने जीत दर्ज की है। यहां टॉस से फैसला हुआ। बीजेपी की ओर से पूर्व कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे की पत्नी ज्योति प्रकाश धुर्वे दावेदार थी। ज्योति धुर्वे लगातार दो बार से जिला पंचायत अध्यक्ष रह चुकी हैं। इस बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

छिंदवाड़ा, नर्मदापुरम में कांग्रेस का कब्जा

छिंदवाड़ा और नर्मदापुरम में जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर कांग्रेस ने कब्जा जमाया है। छिंदवाड़ा में कांग्रेस उम्मीदवार संजय पोन्हार निर्विरोध ज़िला पंचायत अध्यक्ष निर्वाचित हुए हैं। उधर नर्मदापुरम में भी जिपं अध्यक्ष पद पर कांग्रेस ने कब्जा जमाया है। यहां कांग्रेस समर्थित राधाबाई सुधीर पटेल केवल 1 वोट से जीतीं।