सिंधिया समर्थक मंत्री ने खोली शिवराज सरकार की पोल, सड़क नहीं होने के कारण त्यागे जूते-चप्पल

"जब तक मेरे क्षेत्र की सभी सड़कें बन नहीं जातीं, तबतक मैं चप्पल-जूते नहीं पहनूंगा" - ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने ली बड़ी शपथ

Updated: Oct 21, 2022, 09:56 AM IST

सिंधिया समर्थक मंत्री ने खोली शिवराज सरकार की पोल, सड़क नहीं होने के कारण त्यागे जूते-चप्पल

ग्वालियर। सिंधिया खेमे के मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर एक बार फिर शिवराज सरकार में विकास के दावों की पोल खोलते नजर आए। तोमर ने गुरुवार को बड़ी शपथ लेते हुए जूते-चप्पल त्यागने का ऐलान किया। अपने विधानसभा क्षेत्र में सड़कों की दुर्दशा से नाराज होकर ऊर्जा मंत्री ने यह फैसला लिया है। 

दरअसल, गुरुवार को ऊर्जामंत्री प्रधुम्न सिंह तोमर अपने विधानसभा क्षेत्र में औचक निरीक्षण करने निकले थे। ऊर्जा मंत्री तोमर अपने क्षेत्र में खराब सड़कों का निरीक्षण कर रहे थे। इस दौरान जनता ने उनसे कहा कि आप पहले भी निरीक्षण कर चुके हैं। लोगों के सामने अफसरों को कॉल कर चुके हैं, लेकिन रोड़ बनना तो दूर, गड्ढे भी नहीं भर पाए हैं।

यह भी पढ़ें: सांसद आदर्श ग्राम के शासकीय स्कूल में शराब पार्टी, क्लास के समय बियर पीते पकड़ाया नशेड़ी शिक्षक

लोगों का गुस्सा बढ़ता देख प्रद्युमन सिंह तोमर ने हाथ जोड़कर उनसे माफी मांगी और संकल्प लिया कि जब तक ग्वालियर विधानसभा की सड़कों की हालत सुधर नहीं जाती है, तब तक वो जूते-चप्पल नही पहनेंगे और नंगे पैर ही रहेंगे। यानी अब ऊर्जा मंत्री जहां भी जाएंगे, बिना जूते-चप्पल के ही जाएंगे।

बता दें कि ऊर्जा मंत्री तोमर मध्य प्रदेश की राजनीति में अक्सर सुर्खियों में बने रहते हैं। इससे पहले वे फावड़ा लेकर नाले में कूद गए थे। दरअसल, औचक निरीक्षण के दौरान उन्हें सीवेज समस्या की जानकारी मिली थी तो वे नाले में कूद गए थे। इसके पहले भी वे ऑन कैमरा नाली और टॉयलेट साफ कर चुके हैं।