मामा के राज में शर्मिंदा उमा भारती पर दिग्विजय सिंह का क्या है तंज?

मामा के राज में शर्मिंदा उमा भारती पर दिग्विजय सिंह का क्या है तंज? सरकार के खिलाफ मैदान में बीजेपी नेता इन बीजेपी नेताओं का कट जाएगा टिकट बीजेपी राज में आसमान में महंगाई, कांग्रेस मैदान में आई

Updated: Apr 02, 2022, 09:23 AM IST

सरकार के खिलाफ मैदान में बीजेपी नेता
मिशन 2023 के लिए बीजेपी सरकार ने कई स्तरों पर काम शुरू किया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सौम्य छवि को बुलडोजर मामा की सख्त छवि में बदला जा रहा है। इस बीच सबसे ज्यादा अनुशासित मानी जाने वाली पार्टी बीजेपी के दिग्गज नेता अपनी ही सरकार को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं। इनमें फायर ब्रांड नेता और पूर्व सीएम उमा भारती, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता, मैहर से बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी और रीवा जिले में सेमरिया से बीजेपी विधायक केपी त्रिपाठी का नाम भी सुर्खियों में है। सवाल ये है कि आखिर जब भाजपा मिशन 2023 की तैयारी कर रही है। ऐसे में ये नेता क्यों मुखर हो रहे हैं? उमा भारती के बयान पर राज्यसभा सांसद दिग्विजयसिंह ने तंज भी कसा है।

इन बीजेपी नेताओं का कट जाएगा टिकट
बीजेपी ने विधानसभा चुनाव के मिशन 2023 का रोडमैप बनाना शुरू कर दिया है। चुनाव के डेढ़ साल पहले बीजेपी ने संकेत दिए है कि संगठन में काम करने वाले जिलाध्यक्ष टिकट की दौड़ से बाहर होंगे। जिलाध्यक्षों को चुनाव नहीं लड़ाने का साफ ऐलान कर दिया गया है। केंद्रीय नेतृत्व के वंशवाद वाली गाइडलाइन पर अमल होगा तो कई नेता पुत्र टिकट की दौड़ से बाह होंगे। पार्टी ने बूथ मैनेजमेंट के लिए जोखिम वाली 103 सीट के लिए रणनीति बनाई है। इन्हें ए, बी और सी कैटेगरी में रखा है। इन सीट के लिए प्रभारी बनाए जाएंगे, जो प्रवास के साथ मैदानी फीडबैक रिपोर्ट देंगे। 

बीजेपी राज में आसमान में महंगाई, कांग्रेस मैदान में आई
पहले से महंगाई से जूझ रहे लोगों पर बोझ और बढ़ गया है। एक अप्रेल से एक तरफ जहां 800 से अधिक जरूरी दवाइयां 10 फीसदी महंगी हो गई हैं, वहीं कंपनियां ब्रेड-बिस्किट से लेकर तंबाकू और सिगरेट की कीमतें भी बढ़ा रही हैं। पिछले 10 दिन में पेट्रोल-डीजल के दाम 6.40 रुपए प्रति लीटर से अधिक बढ़ चुके हैं। दिल्ली से जोड़ने वाले नेशनल देवास हाइवे पर टोल टैक्स भी 10 फीसदी बढ़ जाएगा। एक अप्रेल से टीवी, एसी, फ्रिज के साथ मोबाइल का इस्तेमाल भी महंगा हो गया है। 8 अप्रैल से प्रदेश में बिजली भी महंगी हो जाएगी। इस महंगाई के खिलाफ कांग्रेस ने मोर्चा खोल दिया है। वह लगातार प्रदर्शन कर विरोध जताएगी।