अनूपपुर में सूदखोरों से 55 लाख कैश बरामद, खाली पेपर पर साइन करवाकर करते थे लोगों से धोखा

पुलिस ने जल्दी लोन दिलाने के नाम पर ठगी के 8 आरोपियों को किया गिरफ्तार, दो आरोपी अब भी फरार, इस कार्रवाई से 500 से ज्यादा आदिवासी गरीब परिवारों को मिलेगा दलालों से छुटकारा

Updated: Aug 25, 2021, 02:13 PM IST

अनूपपुर में सूदखोरों से 55 लाख कैश बरामद, खाली पेपर पर साइन करवाकर करते थे लोगों से धोखा
Photo Courtesy: Hindi News

अनूपपुर। पुलिस ने इलाके के सूदखोरों पर सख्त एक्शन लिया है। सूदखोरों के पास से 55 लाख कैश, अलग-अलग बैंकों की 160 चेक बुक और 225 बैंक पास बुक जब्त की है।वहीं 700 से ज्यादा साइन किए हुए ब्लैंक चेक जब्त किए हैं। लंबे समय से पुलिस को शिकायत मिल रही थी इस इलाके में कई दलाल सक्रिय हैं जो गरीबों को कर्जा दिलाने के नाम पर लूटते हैं। ये दलाल गरीबों को सस्ता कर्ज के नाम पर उनकी जमीन के कागज, और दूसरी कीमती चीजें लेकर पैसा देते औऱ फिर उनसे मनचाहा ब्याज वसूलते थे। पुलिस ने सूदखोरी के आरोप में 8 लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों से पूछताछ जारी है। ये लोग गांव के गरीब आदिवासियों को पैसा उधार देकर उनका शोषण करते थे।

दरअसल अनूपपुर जिला आदिवासी बाहुल्य है। वहीं इस इलाके में कोलमाइन्स हैं। यहां कोल कंपनी में काम करने वाले मजदूरों को धोखा देकर ज्यादा ब्याज पर लोन दिलवाया जाता था। लोगों को लोन पास करवाने और फर्जी तरीके से अपने खातों में डालकर सूदखोर कमाई करते थे। पुलिस ने पूरी प्लानिंग के तहत आऱोपियों को गिरफ्तार किया है। इसके लिए पुलिस ने 10 टीमें बनाई और जरूरतमंद बनने का नाटक कर आऱोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इस केस के 8 आरोपी पुलिस हिरासत में हैं। जबकि 2 फरार चल रहे हैं। सबसे ज्यादा शिकायतें कोतमा सेक्शन के थाना भालूमाड़ा, थाना कोतमा और थाना रामनगर से मिली थी। जिसके बाद पुलिस ने सूदखोरों और दलालों पर कार्रवाई की है।

55 लाख कैश, 160 चेकबुक, 710 ब्लैंक चेक, 225 पासबुक, 73 एटीएम कार्ड, 48 पैनकार्ड, 66 आधार कार्ड, 50 एफीडेविड, करीब 80 मार्कशीट, 25 ऋणपुस्तिका अपने कब्जे में ली है। पुलिस ने कोरे कागजों  पर साइन वाले शीट्स भी जब्त की है। आगे की कार्रवाई जारी है। दलालों पर इस तरह के एक्शन से जिले के करीबी 500 से ज्यादा आदिवासी परिवारों की मुश्किल हल होगी। पुलिस की मानें तो कैंप लगाकर पीड़ितों की शिकायतों का हल निकाला जाएगा। जिले में सूदखोरी के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा।