भोपाल में खुलेगी अजीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी, सरकार 20 हेक्टेयर ज़मीन देने को राजी

मध्य प्रदेश के लोगों के लिए अच्छी खबर, बेंगलुरु की तर्ज पर भोपाल में यूनिवर्सिटी खुलने से शिक्षा के क्षेत्र में और बढ़ेंगे अवसर

Updated: Dec 04, 2020, 03:12 PM IST

भोपाल में खुलेगी अजीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी, सरकार 20 हेक्टेयर ज़मीन देने को राजी
Photo Courtesy: Bhaskar

भोपाल। मध्य प्रदेश और खासकर राजधानी भोपाल के लोगों के लिए एक अच्छी खबर है। भोपाल में जल्द ही बेंगलुरु की तर्ज पर अजीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी खुलने वाली है। आईटी कंपनी विप्रो के संस्थापक अजीम प्रेमजी का फाउंडेशन बेंगलुरू के बाद अपनी दूसरी यूनिवर्सिटी भोपाल के कान्हासैया में खोलने जा रहा है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक भोपाल विकास योजना क्षेत्र के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बनी नजूल निर्वतन समिति ने अजीम प्रेमजी फाउंडेशन को 99 साल की लीज पर 20.234 हेक्टेयर देने पर सहमति दे दी है। नगरीय विकास विभाग और उच्च शिक्षा विभाग भी सहमति दे चुके हैं। अब मुख्यमंत्री से चर्चा के बाद इसके आदेश जारी हो जाएंगे। सरकार यह जमीन बाजार दर के मुकाबले करीब 25% कीमत पर देने को तैयार है।

वर्तमान समय में इस जमीन की कीमत करीब 13 करोड़ रुपए है। राजस्व रिकॉर्ड में यह जमीन खेती की जमीन के नाम से दर्ज है। हालांकि अब नगरीय विकास विभाग जमीन का लैंडयूज बदलेगा। इस बारे में उच्च शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव अनुपम राजन ने मीडिया को बताया है कि मिशिगन स्टेट यूनिवर्सिटी, इंस्टीट्यूट ऑफ न्यू इकनॉमिक थिंकिंग (आईएनईटी) और एडमिनिस्ट्रेटिव ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट मैसूर समेत कई जाने-माने संस्थान इसके सहयोगी हैं।

अनुपम राजन का कहना है कि इस यूनिवर्सिटी के शुरू होने के बाद एजुकेशनल मैप पर भोपाल का नाम देश में दिखाई देने लगेगा। फाउंडेशन के संबंध में भी यह बड़ी बात है कि पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन की जा रही है। बता दें कि कान्हासैया से पहले यूनिवर्सिटी के लिए वाल्मी के पास वाली जगह को चिन्हित किया गया था। लेकिन अज़ीम प्रेमजी फाउंडेशन को जितनी जगह चाहिए थी, उसमें कुछ जमीन फॉरेस्ट के हिस्से वाली थी, लिहाजा लोकेशन  बदल दी गई।