Swachh Survekshan 2020: इंदौर चौथी बार सबसे साफ शहर, भोपाल स्वच्छ राजधानी

Swachh Survekshan 2020: पीएम नरेंद्र मोदी ने की ‘स्वच्छ सर्वेक्षण- 2020’ के नतीजों की घोषणा, एमपी के चार शहर टॉप 20 में

Updated: Aug-21, 2020, 12:59 AM IST

Swachh Survekshan 2020: इंदौर चौथी बार सबसे साफ शहर, भोपाल स्वच्छ राजधानी

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने ऑनलाइन कार्यक्रम में वार्षिक स्वच्छता सर्वेक्षण के पांचवें संस्करण ‘स्वच्छ सर्वेक्षण- 2020’ के नतीजों की घोषणा की। Swachh Survekshan 2020 में इंदौर ने देश में सबसे स्वच्छ शहर होने का चौका लगा दिया है। इंदौर देश का सबसे साफ शहर है तो गुजरात का सूरत दूसरा सबसे स्वच्छ शहर है। नवी मुंबई तीसरे नम्बर पर है। स्वच्छता सर्वेक्षण-2020 में भोपाल की स्थिति में अच्छा सुधार किया है। पिछले सर्वे में भोपाल 19 वें नंबर पर रहा था। इस बार भोपाल को 7 वीं रैंक मिली है। भोपाल का सबसे साफ राजधानी का दर्जा बरकरार रहा है। 

सबसे पहले सर्वेक्षण में देश के सबसे स्वच्छ शहर का पुरस्कार मैसूर को मिला था। उसके बाद से इंदौर लगातार चार साल 2017, 2018, 2019 और  2020 में शीर्ष स्थान पर रहा है। इंदौर शहर के चौथी बार अव्वल लाने के  लिए नगर निगम के अधिकारियों और सफाई मित्रों ने कोरोना लॉकडाउन में भी खूब मेहनत की। मार्च में लॉकडाउन लागू होने से जून में अनलॉक-1 तक इंदौर शहर में लगातार सड़कों की सफाई हुई, रात में सड़कों को धोया गया। घर-घर से रोज कचरा उठाया गया। 

स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 के नतीजों की घोषणा के ऑनलाइन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, पूर्व महापौर मालिनी गौड़, कलेक्टर मनीष सिंह, निगमायुक्त प्रतिभा पाल और पूर्व निगमायुक्त आशीष सिंह शामिल हुए। 

इंदौर में जश्न की तैयारियां

सांसद शंकर लालवानी ने कहा है कि इस सफलता पर शाम को घर-घर दीप जलाएँ जाएँगे। सांसद ने लोगों से अपील की है कि गुरुवार शाम को थालियां बजा कर खुशी जताएँ और शुक्रवार सुबह घर-घर आने वाले सफाई कर्मियों का सम्मान करें।

इन शहरों को पुरस्कार

स्वच्छ सर्वेक्षण-2020 में नगर पालिक निगम इंदौर, भोपाल, जबलपुर, बुरहानपुर, रतलाम, उज्जौन, नगर पालिका परिषद सिहोरा जिला जबलपुर, नगर परिषद शाहगंज जिला सीहोर, नगर परिषद कांटाफोड़ जिला देवास एवं छावनी परिषद महू कैंट को पुरस्कार मिला। 

देश में स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 का कार्य 28 दिन में पूरा किया गया है। स्वच्छता एप पर 1.7 करोड़ नागरिकों ने रजिस्ट्रेशन कराया। सोशल मीडिया पर 11 करोड़ से ज्यादा बार इसे देखा गया। 5.5 लाख से ज्यादा सफाई कर्मचारी सामाजिक कल्याण कार्यक्रम से जोड़े गए और कचरा बीनने के काम में लगे 84,000 से ज्यादा लोगों को मुख्यधारा में लाया गया।

स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 की लिस्ट 
1. इंदौर
2. सूरत
3. नवी मुंबई
4. विजयवाड़ा
5. अहमदाबाद
6. राजकोट
7. भोपाल
8. चडीगढ़
9. विशाखापत्तनम
10. वडोदरा

11. नासिक
12. लखनऊ
13. ग्वालियर
14. ठाणे
15. पुणे
16. आगरा
17. जबलपुर
18 . नागपुर
19. गाजियाबाद
20. प्रयागराज