Jagan Mohan Reddy: चंद्रबाबू के साथ मिलकर मेरी सरकार गिराना चाहते हैं सुप्रीम कोर्ट के जज

Jagan's Letter To CJI: आंध्र प्रदेश के सीएम जगनमोहन ने सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस रमन्ना के खिलाफ चीफ जस्टिस को लिखी चिट्ठी

Updated: Oct 11, 2020, 03:39 PM IST

Jagan Mohan Reddy: चंद्रबाबू के साथ मिलकर मेरी सरकार गिराना चाहते हैं सुप्रीम कोर्ट के जज
Photo Courtesy: The Print

हैदराबाद / दिल्ली। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस एन वी रमन्ना पर गंभीर आरोप लगाए हैं। रेड्डी ने चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया जस्टिस एस.ए. बोबडे के नाम पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि जस्टिस रमन्ना, पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू के साथ मिलकर उनकी सरकार गिराने की कोशिश कर रहे हैं। देश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी मुख्यमंत्री ने चीफ जस्टिस को चिट्ठी लिखकर सुप्रीम कोर्ट के किसी जज पर इस तरह से आरोप लगाए हों। जस्टिस रमन्ना इस वक्त वरिष्ठता के लिहाज से सुप्रीम कोर्ट में चीफ जस्टिस बोबडे के बाद दूसरे नंबर के जज हैं।

6 अक्टूबर को लिखी गई चिट्ठी
मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने चीफ जस्टिस के नाम आठ पन्नों का यह पत्र 6 अक्टूबर को लिखा है। जिसे शनिवार को जगनमोहन के प्रमुख सलाहकार अजेय कल्लम ने हैदराबाद में मीडिया के सामने रिलीज किया। चिट्ठी में आरोप लगाया गया है कि 'मई 2019 में वाईएसआर कांग्रेस ने सत्ता में आने के बाद चंद्रबाबू नायडू के कार्यकाल में जून 2014 से लेकर मई 2019 के बीच किए गए सभी सौदों की जांच के आदेश दिए गए हैं। जगनमोहन का आरोप है कि जस्टिस रमन्ना इस जांच के मामले में राज्य की न्याय व्यवस्था को प्रभावित करने का काम कर रहे हैं।'

जज ने जांच को प्रभावित किया: जगनमोहन
सीएम का आरोप है कि जमीन के लेन-देन को लेकर राज्य के पूर्व एडवोकेट जनरल डी श्रीनिवास के खिलाफ जो जांच शुरू हुई, उस पर हाईकोर्ट ने स्टे दे दिया, जबकि एंटी-करप्शन ब्यूरो ने उनके खिलाफ एफआईआर दायर की थी। बता दें कि 15 सितंबर को ही हाईकोर्ट ने मीडिया को एसीबी की तरफ से पूर्व एडवोकेट जनरल पर दर्ज की गई एफआईआर की डिटेल्स उजागर करने से रोक दिया था। श्रीनिवास के खिलाफ यह एफआईआर अमरावती में जमीन खरीद के मामले में दर्ज की गई थी। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक जगनमोहन ने अपनी चिट्ठी में आरोप लगाया है कि जमीन की खरीद-फरोख्त के मामलों में जस्टिस रमन्ना की बेटियां भी शामिल रही हैं और इसीलिए उन्होंने सुनवाई को प्रभावित किया है।

चंद्रबाबू के साथ मिलकर सरकार गिराने की कोशिश: जगनमोहन
अपनी शिकायत में सीएम जगनमोहन ने कहा कि जस्टिस रमन्ना सरकार को अस्थिर करने में नायडू का साथ दे रहे हैं। वह हाईकोर्ट के काम में दखलअंदाजी कर रहे हैं और जजों को प्रभावित कर रहे हैं। रेड्डी के अनुसार रमन्ना ऐसा टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू के हितों के संरक्षण के लिए कर रहे हैं और वे वर्तमान सरकार को गिराना चाहते हैं। मुख्यमंत्री रेड्डी ने भारत के मुख्य न्यायाधीश से यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया है कि राज्य की न्यायिक तटस्थता बनी रहे।