हज़ारों समर्थकों के साथ राहुल गांधी का ईडी दफ़्तर तक पैदल मार्च, पूछताछ शुरू

कांग्रेस के सांसदों, कार्यसमिति के सदस्यों और बहन प्रियंका के साथ राहुल गांधी का प्रवर्तन निदेशालय तक पैदल मार्च

Updated: Jun 13, 2022, 01:16 PM IST

हज़ारों समर्थकों के साथ राहुल गांधी का ईडी दफ़्तर तक पैदल मार्च, पूछताछ शुरू
photo Courtesy: PTI

दिल्ली। राहुल गांधी सभी वरिष्ठ और सहयोगी कांग्रेस नेताओं के साथ पैदल मार्च करके ईडी दफ्तर पहुंचे हैं। बताया जा रहा है कि राहुल के साथ उनकी बहन प्रियंका गांधी भी ईडी दफ्तर पहुंची हैं। लेकिन पैदल मार्च में शामिल कार्यकर्ताओं को करीब एक किलोमीटर दूर ही रोक दिया गया है। 

ईडी ने नेशनल हेराल्ड केस में राहुल गांधी से पूछताछ के लिए समन भेजा था। कांग्रेस इस पूछताछ का विरोध कर रही है। राहुल के समर्थन में हज़ारों कार्यकर्ता दिल्ली और देश के अनेक भागों में सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे हैं। कांग्रेस पार्टी ने इसे सरकार के खिलाफ सत्याग्रह का नाम दिया है। कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए दिल्ली में भारी पुलिस फोर्स की तैनाती की गयी है। ताज़ा सूचना के मुताबिक ईडी दफ्तर के बाहर से कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया जा रहा है और अदर राहुल गांधी से पूछताछ शुरू हो गयी है। बताया जा रहा है कि यह पूछताछ लंबी चल सकती है।

ताजा सूचना के मुताबिक पुलिस बल ने कांग्रेस के बड़े नेताओं को भी हिरासत में ले लिया है। रणदीप सुरजेवाला, अशोक गहलोत और अन्य कई वरिष्ठ नेताओं को गिरफ्तारकर बसों में भरकर ले जाया जा रहा है। दिग्विजय सिंह ने कुछ देर पहले ट्वीट किया है कि मल्लिकार्जुन खडगे, अशोक गहलोत, मुकुल वासनिक व अन्य वरिष्ठ नेताओं के साथ उन्हें गिरफ्तार कर किसी पुलिस स्टेशन ले जाया जा रहा है। इससे पहले सड़कों पर बैठे इन नेताओं की तस्वीरें भी आयी थीं।

इससे पहले सुबह कांग्रेस की प्रेस कांफ्रेंस में रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि "नेशनल हेराल्ड अखबार जिसके सहारे आप कांग्रेस के नेतृत्व को झुकाना और डराना चाहते हैं,यह उसी स्वतंत्रता संग्राम की साल 1937 में स्थापित पहचान भी है और आवाज़ भी.. हमने मोदी सरकार की तरह देश की संपत्ति औने-पौने दामों में अपने मित्रों को नहीं बेची। नेशनल हेराल्ड की मालिक 1937 में भी AJL थी और 13 जून 2022 को भी AJL ही है।"

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि "भाजपा जब जब डरती है, वह पुलिस का सहारा लेती है और उसे आगे कर देती है। अंग्रेजी हुकूमत की तरह बीजेपी भी पुलिस और ईडी का सहारा लेकर सत्य के सवालों को पूछनेवालों को कुचलने का प्रयास कर रही है"

कांग्रेस नेता कन्हैय्या कुमार ने कहा है कि सवाल एक व्यक्ति का नहीं सवाल उस प्रवृत्ति का है जो देश की संस्थाओं का इस्तेमाल कर बीजेपी विपक्ष की आवाज को दबाने के लिए कर रही है।

मीडिया खबरों के मुताबिक राहुल गांधी से ईडी के तीन अफसर पूछताछ कर रहे हैं। कांग्रेस नेता इस पूछताछ को प्रतिशोध की राजनीति बता रही है। यह पहली बार है जब कांग्रेस नेता राहुल गांधी को किसी केंद्रीय एजेंसी के सामने पेश होना पड़ा है। इस मामले कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी 23 जून को ईडी के सामने पेश होना है।