CG के दो पूर्व ब्यूरोक्रेट NDTV बोर्ड में शामिल, अडानी ग्रुप ने पूर्व PS अमन सिंह और पूर्व CS सुनील कुमार को किया नियुक्त

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्य सचिव सुनील कुमार और पूर्व मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अमन सिंह को NDTV के बोर्ड में शामिल किया गया है।

Updated: Dec 31, 2022, 04:35 PM IST

CG के दो पूर्व ब्यूरोक्रेट NDTV बोर्ड में शामिल, अडानी ग्रुप ने पूर्व PS अमन सिंह और पूर्व CS सुनील कुमार को किया नियुक्त

रायपुर। छत्तीसगढ़ में बीजेपी की रमन सिंह सरकार में सबसे ताकतवर नौकरशाहों में शुमार रहे पूर्व PS अमन सिंह और पूर्व CS सुनील कुमार को अडानी ग्रुप ने एनडीटीवी बोर्ड में नियुक्त किया है। NDTV बोर्ड में सुनील कुमार और अमन सिंह को नॉन एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर नियुक्त किया गया है। प्रबंधन की ओर से शुक्रवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है।

अमन सिंह वर्तमान में अडानी समूह के कार्पोरेट ब्रांड कस्टोडियन की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। वे भारतीय राजस्व सेवा के 1995 बैच के अधिकारी रहे हैं। साल 2004 में छत्तीसगढ़ में बीजेपी की रमन सिंह सरकार में प्रतिनियुक्ति पर मुख्यमंत्री का प्रमुख सचिव नियुक्त होने पर उन्होंने आईआरएस से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद वे छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनने तक राज्य के सबसे ज्यादा ताकतवर अधिकारी के रूप में पहचाने गए। उन्हें रमन सिंह सरकार के संकटमोचक के रूप में भी जाना जाता रहा। 

यह भी पढ़ें: उम्मीद है अडानी NDTV की विश्वसनीयता को बनाए रखेंगे: एनडीटीवी के फाउंडर्स प्रणय और राधिका रॉय का बयान

प्रभावशाली नौकरशाह के अलावा उन्हें फायनेंस और प्लानिंग का विशेषज्ञ भी माना जाता है। छत्तीगढ़ में प्रतिनियुक्ति पूरी होने पर केंद्र में लौटने के बजाय उन्होंने डॉ. रमन सिंह के साथ काम करने के लिए सरकारी नौकरी छोड़ दी थी। बाद में वह दिल्ली चले गए और उन्होंने कॉर्पोरेट सेक्टर में काम किया। वे रतन इंडिया पावर में सीईओ भी रहे हैं।

वहीं 1979 बैच के IAS अधिकारी सुनील कुमार रमन सिंह की सरकार के दौरान 2012 से लेकर 2014 तक छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव थे। रमन सिंह की सरकार में सुनील कुमार को भी बेहद ताकतवर अधिकारी माना जाता था। बताया जाता है कि चीफ सेक्रेटरी रहते हुए गौतम अडानी से उनकी नजदीकियां बढ़ी। इसके बाद वे अडानी समूह से जुड़ गए। सुनील कुमार अविभाजित मध्य प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री रहे अर्जुन सिंह के भी करीबी अधिकारी रहे।