छत्तीसगढ़ में स्वाइन फ्लू से दो और मौतें, रायपुर बन रहा हॉटस्पॉट, प्रदेशभर में 161 मामलों की पुष्टि

पिछले डेढ़ महीनों में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या बढ़कर 9 हो गई है, जबकि संक्रमितों की संख्या 161 हो गई है, इनमें से 92 मामले यानी कुल मामलों का 57.14% राजधानी रायपुर से हैं

Updated: Aug 28, 2022, 12:19 PM IST

छत्तीसगढ़ में स्वाइन फ्लू से दो और मौतें, रायपुर बन रहा हॉटस्पॉट, प्रदेशभर में 161 मामलों की पुष्टि

रायपुर। छत्तीसगढ़ में स्वाइन फ्लू के मरीज तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। स्वाइन फ्लू से मौतों का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। शनिवार को छत्तीसगढ़ में स्वाइन फ्लू से दो और लोगों की मौत हो गई, जबकि 16 नए केस सामने आए हैं। प्रदेश में अबतक संक्रमितों की कुल संख्या 161 हो गई है, जबकि 9 लोगों की मौत भी हो चुकी है।

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक शनिवार को मरने वालों में एक महिला बिलासपुर जिले की थी। वहीं दूसरी महिला रायपुर जिले की ही निवासी थी। इनमें से एक को रायपुर एम्स में भर्ती कराया गया था। दूसरी महिला का इलाज रायपुर के ही एक निजी अस्पताल में हो रहा था। उनमें कई दिन पहले स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई थी। दोनों महिलाएं 60 साल से ज्यादा उम्र की थीं और अन्य बीमारियों से भी पीड़ित थीं।

यह भी पढ़ें: छिंदवाड़ा: गोटमार मेले में हुई जबरदस्त पत्थरबाजी, करीब 200 खिलाड़ी घायल, 3 नागपुर रेफर

शनिवार को प्रदेश भर में स्वाइन फ्लू के 16 नए मामलों की पुष्टि हुई है। इनमें से 14 केस अकेले रायपुर जिले से ही आए हैं। एक केस रायगढ़ और एक सूरजपुर से रिपोर्ट हुआ है। आंकड़ों से स्पष्ट है कि रायपुर शहर स्वाइन फ्लू संक्रमण का हॉटस्पॉट बन रहा है। प्रदेश भर के स्वाइन फ्लू के 161 मामलों की पुष्टि हुई है। उनमें से 92 मामले यानी कुल मामलों का 57.14% राजधानी रायपुर के ही हैं। यहां अब भी 54 मरीजों का इलाज चल रहा है। प्रदेश भर में सक्रिय मरीजों की कुल संख्या 86 है। 

स्वास्थ्य विभाग ने लोगों को मौसमी बीमारियों के साथ ही कोविड-19 और स्वाइन फ्लू से अलर्ट रहने की अपील की है। स्वाइन फ्लू के लक्षण भी कोरोना के लक्षणों से मिलते-जुलते हैं। इसमें खांसी, बलगम आना, गले में दर्द या खराश, जुकाम और कुछ लोगों को फेफड़ों में इन्फेक्शन होने पर सांस चढ़ने लग जाती है। जिन व्यक्तियों को इस तरह के लक्षण महसूस हो रहे हैं, उन्हें तुरंत स्वाइन फ्लू के साथ कोरोना की भी जांच कराना चाहिए।