Corona Vaccine : रूस ने वैक्सीन डेटा चोरी के आरोपों को नकारा

Coronavirus : ब्रिटेन, अमेरिका और कनाडा ने आरोप लगाया था कि रूस के हैकर चुरा रहे हैं कोरोना वैक्सीन का डेटा

Publish: Jul 20, 2020 01:39 AM IST

Corona Vaccine : रूस ने वैक्सीन डेटा चोरी के आरोपों को नकारा
Pic: Swaraj Express

रूस की खुफिया एजेंसियों द्वारा कोरोना वायरस के टीके से संबंधित जानकारी चुराने के आरोपों का ब्रिटेन में रूस के राजदूत ने खंडन किया है। आंद्रेई केलिन ने बीबीसी को दिए एक साक्षात्कार में कहा कि अमेरिका, ब्रिटेन और कनाडा द्वारा लगाए जा रहे आरोप निरर्थक हैं। उन्होंने कहा, “मुझे उन हैकरों के बारे में ब्रिटिश मीडिया से पता चला। इस दुनिया में किसी भी प्रकार के कंप्यूटर हैकर को किसी देश से संबद्ध बता देना असंभव है। मैं इस कहानी में विश्वास नहीं करता, यह निरर्थक है।”

इससे पहले अमेरिका, ब्रिटेन और कनाडा की खुफिया एजेंसियों ने 16 जुलाई को आरोप लगाया था कि रूसी खुफिया विभाग के ‘कोजी बियर’ नामक हैकरों का समूह एक विशेष सॉफ्टवेयर की सहायता से कोविड-19 की वैक्सीन बना रहे अकादमिक और फार्मा संस्थानों के अनुसंधान की जानकारी चुरा रहा है। सबसे पहले ब्रिटेन की तरफ से यह आरोप लगाया गया था, बाद में ब्रिटेन ने अमेरिका और कनाडा से इस संबंध में संपर्क स्थापित किया था। हालांकि, इस संबंध में अभी तक किसी महत्वपूर्ण जानकारी चोरी होने का प्रमाण नहीं मिला है।

वहीं ब्रिटिश विदेश मंत्री डॉमिनिक रॉब ने भी कहा कि रूसी खुफिया विभाग ने पिछले साल हुए आम चुनाव में हस्तक्षेप करने की कोशिश की थी। केलिन ने साक्षात्कार में कहा कि उनके देश को ब्रिटेन की घरेलू राजनीति में दखलअंदाजी करने में कोई रुचि नहीं है। रूस के ऊपर 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में भी हस्तक्षेप करने के आरोप लगे हैं। वहीं आगामी अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन ने कहा है कि उन्हें डर है कि रूस इस बार भी चुनाव में हस्तक्षेप कर सकता है।