हड़ताल पर गए भोपाल नगर निगम के 16 हजार कर्मचारी, राजधानी की साफ-सफाई ठप्प

23 लाख से ज्यादा की आबादी वाले राजधानी भोपाल में साफ सफाई से जुड़ी सभी सुविधाएं ठप हो गई है। नगर निगम के16 हजार कर्मचारी आज से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं।

Updated: Dec 12, 2022, 06:38 PM IST

हड़ताल पर गए भोपाल नगर निगम के 16 हजार कर्मचारी, राजधानी की साफ-सफाई ठप्प

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में साफ सफाई से जुड़ी सभी सुविधाएं ठप्प हो गई है। नगर निगम भोपाल के 16 हजार दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं। वे अपनी 6 सूत्री मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर गए हैं।

नगर निगम कर्मियों के हड़ताल की वजह से शहर में सड़क से लेकर लोगों के घरों तक कचरे का ढेर लगा हुआ है। शहर के कई इलाकों से कचरा नहीं उठा। सुबह से ही कर्मचारी कोलार, बैरागढ़, आरिफ नगर समेत कई इलाकों में इकट्‌ठा हुए और नारेबाजी करने लगे। वहीं, उन्होंने कचरा प्लांटों पर गाड़ियां खड़ी कर दी। इससे डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन भी नहीं हो पा रहा है।

हड़ताल के कारण शहर के तीन लाख से अधिक घरों से कचरा नहीं उठाया गया। वहीं पांच हजार से अधिक सड़कों और 50 से अधिक बाजारों में साफ-सफाई नहीं की गई। निगम प्रशासन ने हमेशा की तरह हड़ताल पर जा रहे कर्मचारियों और कर्मचारी नेताओं को समझाने से ज्यादा उन्हें धमकाने पर फोकस किया। हालांकि, इस बार निगमकर्मी आर-पार के मूड में दिखे।

दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों का नियमितीकरण, सीधी भर्ती, कर्मचारियों के वेतन में वृद्धि और सुविधाओं संबंधित अन्य मांगों मांगें काफी समय से लंबित हैं। उधर, कांग्रेस कर्मचारियों के समर्थन में आ गई है। पीसीसी चीफ कमलनाथ ने कहा कि, 'नगर निगम के कर्मचारी, शहर की नागरिक सुविधाओं का मुख्य केंद्र हैं। मैं सरकार से मांग करता हूं कि कर्मचारियों की न्याय संगत मांगों को मान लिया जाए ताकि हड़ताल के कारण नागरिकों को परेशानी का सामना ना करना पड़े।'