केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते के बिगड़े बोल, कांग्रेस पार्टी को दी गंदी गाली, तत्काल बर्खास्त करने की मांग

केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते के बिगड़े बोल, कांग्रेस पार्टी को दी ‘गाली’, विधायक को लेकर भी अमर्यादित टिपण्णी, कांग्रेस ने उठाई तत्काल बर्खास्त करने की मांग

Updated: Jan 15, 2023, 10:29 PM IST

केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते के बिगड़े बोल, कांग्रेस पार्टी को दी गंदी गाली, तत्काल बर्खास्त करने की मांग

डिंडोरी। बीजेपी के बड़बोले केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते फिर सुर्खियों में हैं। इस बार उन्होंने कांग्रेस पार्टी को गाली दी है। दरअसल, कुलस्ते किसानों की कर्जमाफी पर बोल रहे थे। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 15 महीने में किसी को पानी तक नहीं पिलाया। इतना ही नहीं उन्होंने मंडला के निवास से कांग्रेस विधायक को भी बदमाश बता दिया।

दरअसल, कुलस्ते मंडला के चकदेही गांव पहुंचे थे, जहां उन्होंने सामुदायिक भवन का लोकार्पण किया। साथ ही बसनिया क्षेत्र में नर्मदा पर प्रस्तावित बांध का विरोध कर रहे ग्रामीणों से मुलाकात की। इस दौरान का उनका एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वे कांग्रेस को गाली देते नजर आ रहे हैं।

वीडियो में कुलस्ते कहते हैं कि, 'देखो भैया, 15 महीने में कांग्रेस ने आदमी को पानी तक नहीं पिलाया... @#$%^&... पानी नहीं पिलाया। और इतना तंग किया, किसानों के बारे में देखो। मेरी पहली सभा मध्यप्रदेश की थी। मैंने कहा कि कांग्रेस और कमलनाथ, ये जो कानून है इसके दायरे में आता नहीं है। ये सब फर्जीवाड़ा है। एक आदमी का इसमें कर्जा माफ नहीं होगा। इसके बाद मैं नारायणगंज गया। कांग्रेस विधायक वहां से ऐसे भागा। उसके बाद मुझे मिल गया। मैंने कहा ये बदमाश आदमी है। लोगों की नहीं सुन सकता, इधर आ गया।'

केंद्रीय मंत्री के बयान पर कांग्रेस नेता और निवास के विधायक डॉ. अशोक मर्सकोले ने कहा कि कांग्रेस की कमलनाथ जी की सरकार ने 27 लाख किसानों का कर्जमाफी किया है। जिसका प्रमाण है। बीजेपी की शिवराज सरकार ने ही विधानसभा में दिए जवाब में ये माना है।

विधायक ने कहा कि फग्गन सिंह कुलस्ते ने कांग्रेस, कमलनाथ जी और मुझे कोड कर अपशब्द कहे है। ये अशोभनीय और निंदनीय है। ये वोटर्स का भी अपमान है। विधायक ने कहा कि इन अपशब्दों को कांग्रेस पार्टी और कार्यकर्ता बर्दाश्त नहीं करेंगे। इनका विरोध करेंगे, काले झंडे दिखाएंगे और पुतला दहन करेंगे।