नहीं रहे कांग्रेस के दिग्गज नेता बृजेन्द्र सिंह राठौर, कोरोना संक्रमण ने ली जान

मध्यप्रदेश कांग्रेस के विधायक बृजेन्द्र की कोरोना से हुई मौत, राजधानी भोपाल स्थित चिरायु अस्पताल में भर्ती थे राठौर, फेफड़े तक फैल गया था संक्रमण

Updated: May 02, 2021, 10:48 PM IST

नहीं रहे कांग्रेस के दिग्गज नेता बृजेन्द्र सिंह राठौर, कोरोना संक्रमण ने ली जान

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस के दिग्गज नेता बृजेन्द्र सिंह राठौर नहीं रहे। अभी-अभी जानकारी मिली है कि कोरोना वायरस संक्रमण से जूझते हुए राठौर ने दम तोड़ दिया। राठौर के निधन से मध्यप्रदेश के राजनीतिक गलियारे में शोक की लहर दौड़ उठी है। कांग्रेस विधायक बीते 15 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे।

मध्यप्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष व पूर्व सीएम कमलनाथ ने बृजेन्द्र सिंह राठौर के निधन पर शोक व्यक्त किया है। कमलनाथ ने ट्वीट किया, 'पूर्व मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह राठौर के दुखद निधन का समाचार बेहद पीड़ादायक व व्यथित करने वाला है। वे मेरे बेहद प्रिय होकर , सहज , सरल व्यक्तित्व के धनी व पार्टी के प्रति बेहद निष्ठावान व समर्पित थे। उनका निधन कांग्रेस परिवार व मेरे लिये व्यक्तिगत क्षति है। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।'

बृजेंद्र सिंह राठौर का इलाज पहले ग्वालियर के अस्पताल में चलता रहा। लेकिन ग्वालियर के जिस अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था वहां एक एक करके स्वास्थ्यकर्मी कोरोना की चपेट में आते गए। परिजनों के मुताबिक जब हालात दो दर्जन से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों के कोविड पॉजिटिव होने तक पहुंच गयी तो उन्होंने बृजेंद्र राठौर को पृथ्वीपुर उनके पैतृक घर लाने का फैसला किया। हालांकि वहां पहुंचते ही फिर हालत बिगड़ गई। इसके बाद बृजेंद्र सिंह को झांसी के नारायण अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनका ऑक्सीजन लेवल पचास तक पहुंच गया था।

मामले की गंभीरता को देखते हुए कांग्रेस के बड़े नेताओं ने हस्तक्षेप किया और उन्हें एयरलिफ्ट कर भोपाल लाया गया। भोपाल के चिरायु अस्पताल में बीते 24 अप्रैल से भर्ती थे। इस दौरान उनकी हालात लगातार बिगड़ती जा रही थी। आखिरकार तमाम प्रयासों के बावजूद डॉक्टर उन्हें बचा पाने में असफल रहे और आज शाम उन्होंने दम तोड़ दिया।

बृजेन्द्र सिंह राठौर मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ जिले के पृथ्वीपुर से विधायक थे। साल 2018 में कमलनाथ की सरकार के दौरान उन्हें वाणिज्य कर मंत्री बनाया गया था। 63 वर्षीय कांग्रेस के इस दिग्गज नेता ने साल 1982 में जिला यूथ कांग्रेस के जनरल सेक्रेटरी के तौर पर अपने राजनीतिक पारी की शुरुआत की थी। टीकमगढ़ जिले के सबसे लोकप्रिय नेताओं में शुमार बृजेन्द्र सिंह ने 1992 में पहली बार विधानसभा चुनाव जीता था।