संघ प्रमुख के तीन दिवसीय भोपाल दौरे से सियासी हलचल तेज, दिग्विजय सिंह ने किया स्वागत

Digvijaya Singh: क्या बीजेपी की गिरती साख पर चर्चा करेंगे मोहन भागवत, आखिर तीन महीने में तीसरे भोपाल दौरे के क्या हैं निहितार्थ

Updated: Nov 05, 2020, 12:09 PM IST

संघ प्रमुख के तीन दिवसीय भोपाल दौरे से सियासी हलचल तेज, दिग्विजय सिंह ने किया स्वागत
Photo Courtesy: Bhaskar

भोपाल। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत और सह कार्यवाहक भैय्या जी जोशी अपने तीन दिवसीय दौरे पर भोपाल आए हैं। आरएसएस चीफ के भोपाल दौरे पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने स्वागत किया है। इसके साथ ही राज्यसभा सांसद ने मोहन भागवत से पूछा है कि क्या आरएसएस विधायकों की खरीद-फरोख्त का समर्थन करता है।

दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा, 'मोहन भागवत जी का भोपाल में पुन: हार्दिक स्वागत। क्या भाजपा की गिरती साख पर चर्चा करेंगे? क्या खुल कर करोड़ों में बिकने वाले पूर्व विधायकों को संघ के चाल चरित्र व चेहरे से परिचित कराएँगे? या संघ भी विधायकों की ख़रीद फ़रोख़्त का समर्थन करती है? भागवत जी को स्पष्टीकरण देना चाहिए।'

रिपोर्ट्स के मुताबिक मोधन भागवत और भैय्या जी जोशी इस तीन दिवसीय दौरे के दौरान मध्य क्षेत्र की टोली के साथ भोपाल के शारदा विहार में बैठक करेंगे। इस कार्यक्रम में मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के संघ पदाधिकारी शामिल होंगे। बैठक में कोरोना काल में संघ द्वारा की गई सेवाओं की समीक्षा होगी। वहीं आदिवासी संगठनों से निपटने की भी रणनीति बनाई जाएगी।

और पढ़ें: Digvijaya Singh: PM मोदी के दबाव में चीन के लिए रास्ता खोल रहे हैं भागवत

तीन महीने में तीसरा भोपाल दौरा

बता दें कि उपचुनाव के दौरान बीते तीन महीनों में आरएसएस चीफ का यह तीसरा दौरा है। ऐसे में उपचुनाव और उसके नतीजों को लेकर भी इस दौरे को अहम माना जा रहा है। सियासी गलियारों में काफी लंबे समय से यह चर्चा थी कि संघ मध्यप्रदेश में बीजेपी नेतृत्व से नाराज चल रहा है। वहीं सूत्रों से यह जानकारी भी सामने आई थी कि बीते महीने संघ के हुए आंतरिक सर्वे में 28 में से 24 सीटों पर बीजेपी की स्थिति खराब है। ऐसे में 10 को उपचुनाव के नतीजे आने से पहले संघ प्रमुख मध्यप्रदेश में सत्ता को लेकर भी आगे की रणनीतियों पर चर्चा कर सकते हैं।