मुरैना के रूनीपुर गांव में घुसा बाघ, कवरेज करने गए पत्रकार पर किया हमला, पंजे से चमड़ी उधेड़ी

राजस्थान के रणथंभौर से भागकर आया है बाघ, भटकते हुए वह मुरैना की सीमा में घुस आया। अब ग्रामीणों को बना रहा निशाना, कवरेज करने गए पत्रकार को भी मारा पंजा।

Updated: Nov 19, 2022, 03:50 PM IST

मुरैना के रूनीपुर गांव में घुसा बाघ, कवरेज करने गए पत्रकार पर किया हमला, पंजे से चमड़ी उधेड़ी

मुरैना। मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में एक बाघ ने कवरेज करने गए पत्रकार को घायल कर दिया। मामला जौरा कस्बे के रुनीपुर गांव का है। यहां राजस्थान के रणथंभौर में अपना टेरेटरी से भटककर मोहन नामक बाघ घुस आया है। मोहन बाघ की खबर सुनकर रूनीपुर गांव में दहशत का माहौल है।

बताया जा रहा है कि बाघ को रेस्क्यू करने वन विभाग का अमला पहुंच चुका था। गांव के लोग अपने घरों की छत पर चढ़ गए थे। वे डर की वजह से नीचे नहीं उतर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ कस्बे के लोगों में भी दहशत है। वे इस बात को लेकर दहशत मे हैं कि कहीं अगर बाघ कस्बे में घुस आया तो, न जाने कितने लोगों को नुकसान पहुंचाएगा।

यह भी पढ़ें: तिहाड़ जेल में ऐश: मसाज कराते दिखे केजरीवाल के मंत्री सत्येंद्र जैन, CCTV फुटेज वायरल

स्थानीय समाचार पत्र के संपादक दिनेश जैन भी बाघ का कवरेज करने गांव पहुंचे थे। बाघ ने दिनेश जैन को देखा तो उनपर हमला कर दिया। जैन इसके लिए बिल्कुल तैयार नहीं थे। वे बाघ के हमले से बुरी तरह घबरा गए। बाघ ने उनके दायें कंधे पर पीछे से वार किया तो उसके नाखूनों से उनका मांस निकल आया।
बाघ ने वहां मौजूद अन्य लोगों पर भी हमला बोला लेकिन वे बच कर भाग निकले। कुछ लोगों को हल्की-फुल्की खरोंच आई है।

पत्रकार दिनेश जैन को घायल अवस्था में मुरैना जिला अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टरों की टीम ने घाव देखकर दवाई लिखी लेकिन वे जब मेडीकल काउंटर पर पहुंचे तो दवाइयां उपलब्ध कराने से मना कर दिया। बता दें, कि बाघ से घायल होने के बाद टिटनेस व रैबीज के इंजेक्शन के साथ-साथ में एक अलग से इंजेक्शन घाव सुखाने का आता है। मुरैना जिला अस्पताल प्रबंधन के पास ये दवाइयां नहीं थी। प्रबंधन ने उन्हे स्वयं के खर्च पर खरीदकर ग्वालियर हॉस्पीटल से लगवाने की सलाह दी। इसके बाद वे ग्वालियर पहुंचकर जयारोग्य चिकित्सालय के डाक्टर सुनील अग्रवाल के पास गए और अपना उपचार करवाया।