Priyanka Gandhi: राष्ट्रवाद का दावा करने वाले राष्ट्रद्रोह करते पकड़े गए, पूरे मामले की निष्पक्ष जांच हो

अर्णब गोस्वामी के WhatsApp चैट लीक होने के बाद से यह मुद्दा विवादों में है, इन चैट्स के मुताबिक अर्णब को बालाकोट स्ट्राइक की जानकारी पहले से थी, पुलवामा हमले के बाद फ़ायदा होने का ज़िक्र भी चैट में है

Updated: Jan 20, 2021, 06:02 PM IST

Priyanka Gandhi: राष्ट्रवाद का दावा करने वाले राष्ट्रद्रोह करते पकड़े गए, पूरे मामले की निष्पक्ष जांच हो
Photo Courtesy : The Economic Times

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे अर्णब गोस्वामी और BARC के पूर्व सीईओ के कथित WhatsApp चैट्स को लेकर अब कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी हमला बोला है। प्रियंका गांधी ने कहा है कि यह एक गंभीर मामला है और इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। 

प्रियंका गांधी ने अर्णब गोस्वामी का बिना नाम लिए निशाना साधते हुए कहा है कि राष्ट्रवाद का दावा करने वाले राष्ट्रद्रोह करते पकड़े गए। प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर भी हमला बोलते हुए कहा कि, 'देश की सुरक्षा से जुड़ी अतिगोपनीय बातें एक पत्रकार को बताई गईं। हमारे देश के वीर जवान शहीद हुए। पत्रकार कहता है ‘हमें फायदा होगा’। राष्ट्रवाद का दावा करने वाले राष्ट्रद्रोही कारनामे करते हुए पकड़े गए।यह बहुत गम्भीर मामला है। इसकी निष्पक्ष जाँच होनी चाहिए।'

 किसानों की सुन नहीं रही, जवानों की ज़िंदगियों से खेल रही है सरकार : प्रियंका गांधी 

प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि एक तरफ ये सरकार किसानों की सुन नहीं रही दूसरी तरफ जवानों की जिंदगी से खेल रही है। प्रियंका गांधी ने कहा कि जय जवान जय किसान हमारे देश का नारा है। सिर्फ इसे बार बार दोहराने से काम नहीं चलेगा, इस पर क़ायम रहना देश के शहीदों के प्रति हर नेता का नैतिक फर्ज है। 

 

 

यह भी पढ़ें : Congress: भारत में लोकतंत्र मज़बूत होता, तो अर्णब और मोदी से पुलवामा का सच पूछा जाता

दरअसल यह सारा बवाल रिपब्लिक टीवी के एंकर अर्णब गोस्वामी और BARC के पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता के WhatsApp चैट्स लीक होने के बाद शुरू हुआ है। मुंबई पुलिस ने टीआरपी स्कैम के मामले में chargesheet दायर की है। जिसमें गोस्वामी के WhatsApp चैट्स भी शामिल हैं। पार्थो दासगुप्ता के साथ लीक WhatsApp चैट्स के अनुसार बालकोट स्ट्राईक होने से पहले ही अर्णब गोस्वामी को पता था। गोस्वामी चैट्स में यह भी स्वीकारते हैं कि इस स्ट्राईक की जानकारी पहले से होने के कारण उनके चैनल को तो फायदा हुआ ही है। लेकिन इसके साथ साथ मोदी सरकार को भी आगामी चुनाव (लोकसभा चुनाव 2019) में फायदा होगा।  

चैट्स के वायरल होने के बाद से ही सोशल मीडिया पर अर्णब गोस्वामी की आलोचना हो रही है। कांग्रेस पार्टी भी लगातार अर्णब गोस्वामी पर मामला दर्ज करने की बात कर रही है। कांग्रेस इसके साथ साथ मोदी सरकार पर भी इस एयरस्ट्राइक की खुफिया जानकारी गोस्वामी को उपलब्ध होने को लेकर हमला बोल रही है। कांग्रेस का आरोप है कि मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया है।