PACL चिटफंड कंपनी का डायरेक्टर रायपुर पुलिस की गिरफ्त में, पैसा डबल करने के नाम पर करोड़ों की ठगी का आरोप

छत्तीसगढ़ में PACL कंपनी के नाम 600 एकड़ जमीन की कुर्की कर लोगों के पैसे लौटाने की तैयारी, चिटफंड कंपनी ने अन्य पादाधिकारियों पर भी शिकंजा, 2016 में कंपनी ने किया था फर्जीवाड़ा

Publish: Jul 02, 2021, 12:29 PM IST

PACL चिटफंड कंपनी का डायरेक्टर रायपुर पुलिस की गिरफ्त में, पैसा डबल करने के नाम पर करोड़ों की ठगी का आरोप
Photo Courtesy: Bhaskar

रायपुर। PACL प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने लोगों को कम समय में पैसे दोगुने करने का सब्ज बाग दिखाया। और हजारों लोगों के लाखों रुपए लेकर फरार हो गई। अब इस कंपनी का डायरेक्टर पुलिस की गिरफ्त में है। रायपुर पुलिस आरोपी को प्रोडक्शन वारंट पर पंजाब से लेकर आई है। इसका नाम सुखदेव सिंह है, यह PACL चिटफंड कंपनी का डायरेक्टर था। इसकी कंपनी पर हजारों लोगों को ठगने का आरोप है। जिसकी शिकायत छत्तीसगढ़ के विभिन्न थानों में दर्ज है।

इस चिटफंड कंपनी ने हजारों लोगों से करोड़ों रुपए जमा करवाए औऱ पैसे लेकर फरार हो गई। मामला साल 2016 का है, इस कंपनी के पीड़ितों ने इस मामले की शिकायत थानों में दर्ज करवाई थी। तब से पुलिस को आऱोपी की तलाश थी। अब छत्तीसगढ़ पुलिस PACL प्राइवेट लिमिटेड चिटफंड कंपनी के डायरेक्टर सुखदेव सिंह को प्रोडक्शन वारंट पर पंजाब से रायपुर ले आई है। इससे पूछताछ में कई बड़े खुलासा होने की उम्मीद है।

 दरअसल पंजाब में इस सुखदेव सिंह को CBI ने गिरफ्तार किया था। तब से आरोपी रूपनगर जेल में था। मामले का खुलासा होने पर छत्तीसगढ़ के तीन जिलों की पुलिस ने उससे पूछताछ करना चाहती थी। अब महासमुंद, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही और रायपुर पुलिस की टीम सुखदेव को पंजाब से प्रोडक्शन वारंट पर रायपुर लाई है।

पुलिस सुखदेव सिंह की 600 करोड़ से ज्यादा की प्रापर्टी की जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि आरोपी की संपत्ति बेचकर जनता के पैसे लौटाए जाएंगे। सुखदेव सिंह कंपनी से वित्तीय फैसले लेता था। वहीं PACL कंपनी के दूसरे डायरेक्टर्स पर भी पुलिस शिकंजा कसने की तैयारी में हैं। PACL कंपनी ने नाम पर प्रदेश के विभिन्न शहरों   रायपुर, बस्तर, महासमुंद, रायगढ़ और राजनांदगांव में करोड़ों की जमीन है। कंपनी के नाम पर अलग-अलग जगहों पर करीब 600 एकड़ जमीन खरीदी गई है। जिसे सीज करने की तैयारी की जा रही है। आरोपी सुखदेव सिंह के खिलाफ रायपुर के अलावा कोरिया, बेमेतरा, महासमुंद, बस्तर में भी फ्राड के कई केस दर्ज हैं।