मध्य प्रदेश में सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को लगेगा कोरोना का टीका

5 लाख स्वास्थ्यकर्मियों के बाद बुजुर्गों को लगाया जाएगा कोरोना का टीका, वैक्सीन आने से पहले ही टीकाकरण की योजना पर काम शुरू

Updated: Nov 24, 2020, 04:06 PM IST

मध्य प्रदेश में सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को लगेगा कोरोना का टीका
Photo Courtesy: BBC.com

भोपाल। कोरोना की वैक्सीन अब तक बनकर तैयार नहीं हुई है, लेकिन मध्य प्रदेश सरकार ने एक कदम आगे बढ़कर टीकाकरण की योजना तैयार कर ली है। मध्य प्रदेश सरकार ने यह निर्णय लिया है कि वैक्सीन उपलब्ध होने पर सबसे पहले प्रदेश के पांच लाख स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण किया जाएगा। इन स्वास्थ्य कर्मियों में सरकारी के साथ ही साथ निजी अस्पतालों के स्टाफ भी शामिल होंगे।  

तीस लाख सीनियर सिटीजन को भी टीकाकरण में प्राथमिकता

स्वास्थ्य कर्मियों के टीकाकरण के बाद राज्य के 60 साल से ज्यादा उम्र वाले बुज़ुर्गों को बुलाकर टीका लगाया जाएगा। इसके लिए उन्हें एसएमएस के जरिए सूचना दी जाएगी। फिलहाल इस श्रेणी में 30 लाख लोग शामिल हैं। कोरोना का टीकाकरण चरणबद्ध तरीके से किए जाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार करके सरकार को भेज दी है।

टीकाकरण की इस योजना को लेकर सोमवार शाम स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने तैयारियों की समीक्षा बैठक की। इसमें तय किया गया है कि स्वास्थ्यकर्मी स्कूलों में जाकर ही टीका लगाएंगे l इस योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए मध्य प्रदेश के करीब 12 सौ कर्मचारियों को स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने ऑनलाइन ट्रेनिंग दे दी है।