भोपाल में पुलिस मुख्यालय की नाक के नीचे बलात्कार, आरोपी ने महिला को बेरहमी से पीटा

घटना भोपाल स्थित पुलिस मुख्यालय से महज 500 मीटर की दूरी पर घटी, हमीदिया अस्पताल में दवा लेने गई थी पीड़ित महिला, पुलिस का दावा- आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है

Updated: Jan 15, 2021, 05:55 PM IST

भोपाल में पुलिस मुख्यालय की नाक के नीचे बलात्कार, आरोपी ने महिला को बेरहमी से पीटा
Photo Courtesy : National Herald

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में दुष्कर्म का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। राजधानी में कल देर रात एक 35 वर्षीय महिला के साथ बलात्कार किया गया। हैरान करने वाली बात ये है कि इस वारदात को मध्य प्रदेश पुलिस मुख्यालय के नाक के नीचे अंजाम दिया गया है। पुलिस का दावा है कि उसने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक तबीयत खराब होने की वजह से पीड़िता दवा लेने हमीदिया अस्पताल गई थी। इस दौरान उसे किसी ने बताया कि लाल परेड मैदान के पास लोगों को खाना दिया जा रहा है। यही सुनकर वह लाल परेड मैदान चली गई। वहां से खाना खाकर लौटते वक्त रात करीब 12 बजे पीड़िता जहांगीराबाद के मुर्गी बाजार से पैदल घर की तरफ जा रही थी। आरोप है कि इसी दौरान आरोपी महिला का मुंह दबाकर उसे जबरन कपड़े की दुकान में ले गया। दुकान के अंदर आरोपी ने महिला को बेरहमी से पीटा और फिर दुष्कर्म किया। इसके बाद वह महिला को वहीं छोड़ वहां से भाग गया।

यह भी पढ़ें: वरिष्ठ पत्रकार निधि राज़दान हुईं बड़ी ऑनलाइन धोखाधड़ी की शिकार, ट्विटर पर शेयर की आपबीती

घटना के बाद महिला ने डायल-100 को कॉल करके पुलिस से मदद मांगी, जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची। हैरान करने वाली बात यह है कि मध्य प्रदेश का पुलिस मुख्यालय जहांगीराबाद में ही है और महिला के साथ बलात्कार की इस वारदात को पुलिस मुख्यालय से महज 500 मीटर की दूरी पर अंजाम दिया गया।

जहांगीराबाद पुलिस के अनुसार वारदात गुरुवार देर रात करीब 12 बजे की है। 35 साल की महिला पति के साथ सेमरा अशोका गार्डन में रहती है। घटना के बाद पुलिस ने इलाके में तलाशी भी ली, लेकिन आरोपी का पता नहीं चला। रात 3:30 बजे पुलिस ने महिला की शिकायत पर मारपीट और दुष्कर्म की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया। बाद में जहांगीराबाद के टीआई वीरेंद्र सिंह ने दावा किया कि दुष्कर्म के आरोपी नरेश को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसने दुष्कर्म की बात मान भी ली है।

यह भी पढ़ें: सीएम शिवराज के ज़िले सीहोर का कुपोषण के मामले में बुरा हाल, 5693 बच्चे पोषण की कमी से पीड़ित

पति के आने तक सदमें में थी महिला

जानकारी के मुताबिक पुलिस जब महिला के पास पहुंची तो वह कुछ भी बोलने बताने की हालात में नहीं थी। इसके बाद पुलिस ने उसे थाने लाकर कुछ पूछना चाहा तो वह सिर्फ अपने घर का पता बता पाई। इसके बाद पुलिस उसके पति को थाने लेकर आई। पति के आने के बाद महिला सदमे से बाहर आई और पुलिस को पूरी वारदात सुनाई। उसने बताया कि वह आरोपी को नहीं जानती। 

इस वारदात के बाद विपक्ष ने राज्य में कानून व्यवस्था की हालत पर सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस ने सीएम शिवराज पर निशाना साधते हुए कहा है कि यह अपराध की यह घटना बताती है कि शिवराज सरकार में अपराधियों के हौसले किस कदर बुलंद हैं। जब पुलिस मुख्यालय की नाक के नीचे ऐसे जघन्य अपराधों को अंजाम दिया जा रहा है, तो अन्य जगहों पर महिलाएं कितनी सुरक्षित होंगी।