MP By Elections: कमलनाथ के खिलाफ बीजेपी का धरना, कांग्रेस ने उठाया महिला सुरक्षा का मुद्दा

Kamal Nath Vs BJP: कमलनाथ की इमरती देवी पर की गई टिप्पणी पर बीजेपी को सख्त एतराज, कांग्रेस ने कहा शिवराज के शासन में महिलाओं सुरक्षा का बुरा हाल

Updated: Oct 19, 2020, 01:06 PM IST

MP By Elections: कमलनाथ के खिलाफ बीजेपी का धरना, कांग्रेस ने उठाया महिला सुरक्षा का मुद्दा

भोपाल। डबरा विधानसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार इमरती देवी के बारे में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की टिप्पणी को लेकर बीजेपी और कांग्रेस में घमासान तेज़ हो गया है। डबरा की एक जनसभा में कमलनाथ ने इमरती देवी पर ऐसी टिप्पणी कर दी, जिसने बीजेपी को बैठे-बिठाए कांग्रेस को घेरने का मौक़ा दे दिया है। बीजेपी ने कमलनाथ की तरफ़ से की गई टिप्पणी को अभद्र और अशालीन बताते हुए सोमवार को पूरे प्रदेश में मौन धरना देने का एलान किया है, तो कांग्रेस ने बीजेपी को आईना दिखाते हुए उसकी सरकार के राज में रेप के बढ़ते मामलों का मुद्दा उठा दिया है।

बीजेपी ने एलान किया है कि कमलनाथ की टिप्पणी के विरोध में भोपाल में शिवराज सिंह चौहान, ग्वालियर में प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष वीडी शर्मा और इंदौर में ज्योतिरादित्य सिंधिया के नेतृत्व में मौन धरना और उपवास होना है। भोपाल में शिवराज सिंह के नेतृत्व में बीजेपी के कई नेता धरने पर बैठ भी गए हैं।

 

बीजेपी के इस मौन धरने-उपवास के कार्यक्रम पर मध्य प्रदेश कांग्रेस ने तीखा व्यंग्य किया है। कांग्रेस ने शिवराज के धरने की तस्वीर शेयर करते हुए ट्विटर पर लिखा है, "मध्यप्रदेश में बढ़ती मौत, हत्या और बलात्कार की घटना के बाद व्यापम, ई-टेंडर एवं शैला मसूद हत्या के मुख्य आरोपियों का संयुक्त आत्मग्लानि शिविर। —बाल कलाकार श्रीअंत इंदौर में प्रस्तुति देंगें। “ड्रामेबाज़ी चरम पर है” नजर आ रहे ये सारे, लोकतंत्र के हैं हत्यारे।"

 

 

कांग्रेस ने इमरती देवी पर टिप्पणी के ख़िलाफ़ बीजेपी के धरने पर ट्वीट करते हुए लिखा है,  “रीवा में 7 दिन में 7 बलात्कार और प्रदेश में प्रतिदिन 12 से अधिक रेप की घटना  होने के विरोध में कल बीजेपी नेता मौन धरना देंगे।”

 

 

ज़ाहिर है कांग्रेस कमलनाथ की टिप्पणी पर बवाल मचा रही बीजेपी को बताना चाहती है कि जिस पार्टी के राज में महिलाओं पर इतने अत्याचार लगातार हो रहे हैं, उसे एक चुनावी सभा में की गई टिप्पणी पर इतना हंगामा खड़ा करने का क्या नैतिक अधिकार है?

इसके अलावा कांग्रेस ने एक और ट्वीट किया है, जिसमें शिवराज सरकार के दौरान महिलाओं-बच्चियों की स्थिति पर निशाना साधा गया है। इस ट्वीट में लिखा है, शिवराज के 6 महीने में-

—मध्यप्रदेश फिर बना बलात्कार में नंबर 1,“बीजेपी हटाओ, बेटी बचाओ”।

 

 

 

कांग्रेस के इस ट्वीट में बीजेपी के मौन प्रदर्शन का ज़िक्र तो नहीं है, लेकिन संदेश वही है। जो बीजेपी अपने राज में महिलाओं-बच्चियों की स्थिति सुधार नहीं पा रही, वो महिला सम्मान की बात क्या करेगी।

ये सारा विवाद पूर्व सीएम कमलनाथ की जिस टिप्पणी को लेकर शुरू हुआ वो उन्होंने रविवार को डबरा में कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश राजे के समर्थन में आयोजित एक जनसभा में की थी।