बिजली गिरने से मारे गए लोगों के परिजनों को 4 लाख मुआवज़ा देगी सरकार, सीएम शिवराज ने किया एलान

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ओलावृष्टि के कारण फसल को हुए नुकसान का आंकलन कर रही है सरकार, किसानों को चिंता करने की ज़रूरत नहीं

Updated: Mar 20, 2021, 02:14 PM IST

बिजली गिरने से मारे गए लोगों के परिजनों को 4 लाख मुआवज़ा देगी सरकार, सीएम शिवराज ने किया एलान
Photo Courtesy : The Print

भोपाल।  मध्यप्रदेश में पिछले दिनों से हो रही बेमौसम बारिश के दौरान बिजली गिरने से सात लोगों की जान जा चुकी है। किसानों की फसलों को भी बारिश और ओलावृष्टि के कारण भारी नुकसान हुआ है। उनकी तबाही-बर्बादी की खबरें और तस्वीरें पिछले कुछ दिनों के दौरान सबने देखी हैं। अब मध्य प्रदेश सरकार ने इन लोगों की सुध लेने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज एलान किया कि बिजली गिरने की वजह से मारे गए लोगों के परिजनों को सरकार की तरफ से चार-चार लाख रुपए का आर्थिक मुवाअज़ा दिया जाएगा।  इसके अलावा उन्होंने किसानों को ओलावृष्टि के कारण हुए नुकसान की भरपाई का भरोसा भी दिलाया है।  

यह भी पढ़ें : जब बर्बाद फसल से लिपट कर रोया किसान, ओले के अत्याचार ने तोड़ी हर उम्मीद

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यह बातें आज एक पत्रकार वार्ता के दौरान कहीं। शिवराज ने कहा कि 'बिजली गिरने से 7 लोगों की पिछले दिनों जान गई थी, उनके परिजनों को 4-4 लाख रुपये की सहायता दी जायेगी।'  बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि के कारण किसानों की फसलों को हुए नुकसान के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ओलावृष्टि के कारण फसलों को हुए नुकसान की समीक्षा कर रही है। मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से कहा कि, 'ओलावृष्टि से हुई क्षति के लिए किसानों को चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है। फसलों की क्षति और पशुओं की हानि के प्रकरणों में सहायता दी जायेगी।' 

यह भी पढ़ें : सिंधिया ने अपने हाथ से साफ़ की पुलिसवाले की चोट, काफिले से टकराकर घायल हुआ था पुलिसकर्मी

मुख्यमंत्री की यह पत्रकार वार्ता कांग्रेस की कमलनाथ सरकार को दल-बदल के जरिए गिराने का एक साल पूरा होने पर बुलाई गई थी। इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सरकार गिराने में सबसे बड़ा योगदान करने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ मिलकर वृक्षारोपण भी किया। जब एक पत्रकार ने उनसे पूछा कि कांग्रेस तो आज लोकतंत्र सम्मान दिवस मना रही है, तो मुख्यमंत्री ने सिर्फ इतना ही कहा, 'मनाने दीजिए।'