लोकायुक्त ने मुरैना में 7 हजार रूपये की घूस लेते टीआई को किया गिरफ्तार, एक सहयोगी भी धराया

ग्वालियर लोकायुक्त ने थाना प्रभारी को 7 हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ा, पुलिस विभाग में मची खलबली, गाड़ी छोड़ने की एवज में ले रहा था रकम, पहली किस्त में ले चुका था 15 हजार रुपए

Updated: Jun 22, 2021, 12:00 PM IST

लोकायुक्त ने मुरैना में 7 हजार रूपये की घूस लेते टीआई को किया गिरफ्तार, एक सहयोगी भी धराया
Photo Courtesy: Naidunia

मुरैना। सबलगढ़ थाना प्रभारी को लोकायुक्त पुलिस ने 7 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। टीआई नरेंद्र शर्मा और उसके चौकीदार को महेंद्र पाल को लोकायुक्त ने पकड़ा है। फरियादी ऋषिकेश गोस्वामी की शिकायत पर लोकायुक्त ने यह कार्रवाई की है।

दरअसल ऋषिकेश ने हाल ही में नई गाड़ी खरीदी थी, एजेंसी से घर गाड़ी लाने के दौरान सबलगढ़ थाना प्रभारी ने उसे चेकिंग के नाम पर रोक लिया और पेपर दिखाने की मांग की। फरियादी के पास सारे पेपर नहीं थे जिसके बाद पुलिस ने उसकी गाड़ी जब्त कर ली और गाड़ी छोड़ने की एवज में 15 हजार की मांग की। फरियादी की लाख मिन्नतों के बाद भी वह नहीं माना और गाड़ी नहीं थी।

 

जब ऋषिकेश ने 15 हजार रुपए दे दिए तब उसके बाद भी गाड़ी नहीं छोड़ी और दोबारा सात हजार रुपए की मांग की। आखिरकार परेशान होकर फरियादी ऋषिकेश ने लोकायुक्त पुलिस में मामले की शिकायत कर दी। जिसके बाद लोकायुक्त ने योजनाबद्ध तरीके से आरोपी थाना प्रभारी को रंगेहाथ पकड़ लिया। फरियादी थाना प्रभारी के घर में पैसे देने गया तो चौकीदार ने रुपए लिए और ले जाकर थाना प्रभारी को दिए, वैसे ही लोकायुक्त ने उन्हें रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। लोकायुक्त की इस कार्रवाई से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया है। लोकायुक्त पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी है।