किसानों के लिए मुआवजा मांगना कांग्रेस MLA को पड़ा भारी, सरकार गंभीर धाराओं के तहत करेगी कार्रवाई

श्योपुर में बाढ़ पीड़ित किसानों का बुरा हाल, कांग्रेस विधायक बोले- किसानों के साथ अत्याचार करोगे तो विधानसभा में जलाऊंगा कानून की किताब, सरकार ने राष्ट्र गौरव बताकर MLA के खिलाफ दिए कार्रवाई का आदेश

Updated: Oct 21, 2021, 04:37 PM IST

किसानों के लिए मुआवजा मांगना कांग्रेस MLA को पड़ा भारी, सरकार गंभीर धाराओं के तहत करेगी कार्रवाई
Photo Courtesy: Naidunia

श्योपुर। मध्य प्रदेश में बाढ़ के कारण हुई फसल की बर्बादी ने किसानों की जिंदगी तबाह कर दी है। श्योपुर में करीब तीन हजार किसान ऐसे हैं जिनकी फसल बाढ़ में पूरी तरह बर्बाद हो गई थी। श्योपुर के कांग्रेस विधायक बाबूलाल जंडेल ने राज्य सरकार को चेतावनी देते हुए शीघ्र किसानों को मुआवजा देने की मांग की है। हालांकि, किसानों के लिए आवाज उठाना कांग्रेस विधायक को भारी पड़ गया है और राज्य सरकार ने मुआवजे की जगह जंडेल के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए है।

दरअसल, श्योपुर समेत अन्य जिले के बाढ़ पीड़ित किसानों को कई महीने बीतने के बाद भी अबतक  सरकारी मुआवजे की रकम नहीं मिली है। हद तो तब हो गई जब किसानों को मुआवजा दिलाने की मांग करने पर कांग्रेस विधायक के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दे दिए गए। बता दें कि कांग्रेस एमएलए जंडेल मुआवजे की मांग को लेकर श्योपुर कलेक्टर ऑफिस पहुंचे थे।

यह भी पढ़ें: साध्वी प्रज्ञा के बिगड़े बोल, दिवंगत नेता के लिए कहा, मुझे जिंदा जलाने वाले खुद भगवान को प्यारे हो गए

बाबूलाल जंडेल ने यहां ज्ञापण सौंपकर 3000 किसानों को मुआवजा देने की मांग की। ज्ञापण में कांग्रेस नेता ने बताया कि इन तीन हजार किसानों के फसल बर्बादी का सर्वे भी नहीं किया गया है। कलेक्टर ऑफिस से बाहर आने के बाद मीडिया ने उनसे पूछा कि मांगें पूरी नहीं होने पर आप क्या करेंगे? इसपर कांग्रेस नेता ने कहा कि क्या सीएम को किसानों की पीड़ा नहीं दिखती है? सरकार जल्द किसानों को मुआवजा नहीं देगी तो मैं विधानसभा में कानून की प्रतियां जलाकर सीएम की आंख में झोंक दूंगा। 

कांग्रेस विधायक के इस बयान को बीजेपी सरकार ने राष्ट्र गौरव से जोड़ते हुए सख्त कार्रवाई करने की बात कही है। मध्य प्रदेश के गृहमंत्री ने कहा है कि, 'कांग्रेस विधायक ने बाबा साहब अंबेडकर द्वारा बनाए गए कानून का अपमान किया है। मैने डीजीपी को निर्देश दिया है कि जंडेल के खिलाफ राष्ट्रीय गौरव अपमान निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाए।'