तरबतर हुई राजधानी, भारी बारिश से निचले इलाकों में भरा पानी

भोपाल में बुधवार दोपहर जमकर बारिश हुई, प्रदेश के रीवा, सागर संभाग के कुछ जिलों में भी वर्षा हुई, मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में 14 जिलों में भारी बारिश और कुछ जगहों पर बिजली गिरने की चेतावनी जारी की है।

Updated: Jun 23, 2021, 04:17 PM IST

तरबतर हुई राजधानी, भारी बारिश से निचले इलाकों में भरा पानी
Photo Courtesy: social media

भोपाल। मध्यप्रदेश के लगभग सभी इलाकों में मानसून सक्रिय हो गया है। कुछ जिलों में मानसूनी बारिश ने मौसम सुहाना कर दिया है। बारिश होने से लोगों को तपती गर्मी से राहत मिलने लगी है। बुधवार दोपहर ढ़ाई बजे से भोपाल में जमकर बरसात हुई। वहीं प्रदेश के रीवा, सागर, छतरपुर में भी बारिश की दौर चला। मंगलवार को भी भोपाल और खंडवा समेत कई जिलों में बारिश हुई थी।

भोपाल में जारी बरसात की वजह से कई इलाकों में जल भराव की स्थिति बन गई। राजधानी की निचली बस्तियों में पानी भरने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटे में बारिश के लिए अलर्ट जारी किया है। 14 जिलों में भारी वर्षा और बिजली गिरने आशंका है। मौसम विभाग ने रीवा, सागर संभाग के जिलों में भारी बारिश के लिए अलर्ट जारी किया है। ग्वालियर-चंबल संभाग, होशंगाबाद में भी चमक गरज के साथ तेज बारिश होने की उम्मीद है। मौसम विभाग ने जबलपुर, उज्जैन और ग्वालियर-चंबल संभाग में तेज हवा के साथ बारिश के लिए अलर्ट जारी किया है। बारिश के दौरान 20 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की उम्मीद है।

ग्वालियर-चंबल अंचल में औसत से कम बारिश हुई है। यहां 19 जून को मानसून आ गया था, लेकिन बारिश का दौर अभी निराश करने वाला ही है। ग्वालियर चंबल के इलाके में लो प्रेशर एरिया बनने की वजह से बारिश नहीं हुई जिससे लोगों को गर्मी का सामना करना पड़ रहा है।

ग्वालियर में जून के चौथे सप्ताह तक औसतन 34 मिमी वर्षा दर्ज होती रही है, लेकिन इस बार केवल 17 मिमी बारिश ही हुई है। आशा की जा रही है कि मानसून की सक्रियता बढ़ेगी और ग्वालियर चंबल अंचल में भी जोरदार बारिश होगी और लोगों को गर्मी से राहत मिलेगी।