मूर्खता की हदें पार कर रही है बीजेपी, प्रह्लाद जोशी के बिजली और जनसंख्या वाले बयान पर कांग्रेस का पलटवार

केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि जनसंख्या इसलिए बढ़ी क्योंकि कांग्रेस ने अपने समय में बिजली मुहैया नहीं कराई

Publish: Mar 10, 2023, 07:29 AM IST

मूर्खता की हदें पार कर रही है बीजेपी, प्रह्लाद जोशी के बिजली और जनसंख्या वाले बयान पर कांग्रेस का पलटवार
Photo Courtesy : The Tribune

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी के एक अजीबोगरीब बयान पर कांग्रेस ने पलटवार किया है। केंद्रीय मंत्री के बिजली की कमी से जनसंख्या में हुई बढ़ोतरी के दावे को कांग्रेस ने मूर्खतापूर्ण करार देते हुए इसे संभावित हार का डर बताया है।

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने प्रह्लाद जोशी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि बीजेपी की मूर्खता की हद बड़ी विचित्र हो चली है। कम बिजली बराबर अधिक बच्चे। संभावित हार के डर से केंद्रीय मंत्री संतुलन खो बैठे हैं। ठीक हो जाओ बीजेपी। 

हाल ही में प्रह्लाद जोशी ने कर्नाटक में कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा था कि कांग्रेस ने सत्ता में रहने के दौरान कम बिजली दी। कांग्रेस के कार्यकाल में जनसंख्या में बढ़ोतरी इसलिए हुई क्योंकि उन्होंने ढंग से बिजली नहीं दी। 

प्रह्लाद जोशी के इसी दावे पर राजनीति तेज हो गई। दरअसल जोशी ने यह बयान कांग्रेस पार्टी के उस घोषणा के संबंध में दिया था, जिसमें कांग्रेस ने कर्नाटक में सरकार आने पर मुफ्त बिजली मुहैया कराने का वादा किया है। जनवरी में राज्य भर में अपने अभियान के दौरान कांग्रेस ने यह वादा किया था कि सत्ता में आने पर वह प्रति माह दो सौ यूनिट तक मुफ्त बिजली मुहैया कराएगी।

कर्नाटक में अप्रैल मई के महीने में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसी अटकलें तेज़ हैं कि बीजेपी कर्नाटक में भी अपने मुख्यमंत्री बदलो अभियान को जारी रखने वाली है। इसके तहत वह राज्य के मौजूदा मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई की जगह पर प्रह्लाद जोशी को मुख्यमंत्री के तौर पर प्रोजेक्ट कर सकती है। 

यह भी पढ़ें : कर्नाटक में कांग्रेस बनाएगी सरकार, सर्वे रिपोर्ट सामने आते ही सत्तारूढ़ बीजेपी में भगदड़ शुरू

दूसरी तरफ कर्नाटक के आगामी विधानसभा चुनावों से पहले आए सर्वे ने बीजेपी की चिंता बढ़ा दी है। हैदराबाद स्थित एसएएस ग्रुप और कर्नाटक की आईपीएसएस टीम ने संयुक्त रूप से नवंबर से जनवरी माह तक के बीच एक सर्वे किया जिसके परिणाम के मुताबिक कांग्रेस पार्टी कर्नाटक के विधानसभा चुनावों में अकेले 108 से 114 सीटें हासिल कर सकती है। वहीं एचडी कुमारस्वामी की जेडीएस को 24 से 34 सीट और बीजेपी को महज़ 65 से 75 सीटों से संतोष करना पड़ सकता है।