अब 18-44 साल के लोगों को बिना स्लॉट बुक किए भी मिलेगी वैक्सीन, स्वास्थ्य मंत्रालय ने बदले नियम

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि अब 18 से 44 आयुवर्ग के लोगों को वैक्सीन लेने के लिए ऑनलाइन अपॉइंटमेंट लेने की जरूरत नहीं है, टीकाकरण केंद्र पर भी अब रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं

Updated: May 24, 2021, 07:32 PM IST

अब 18-44 साल के लोगों को बिना स्लॉट बुक किए भी मिलेगी वैक्सीन, स्वास्थ्य मंत्रालय ने बदले नियम
Photo Courtesy: HT

नई दिल्ली। कोरोना वैक्सीनेशन के नियमों में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बड़ा बदलाव किया है। अब 18 से 44 साल के लोग बिना ऑनलाइन अपॉइंटमेंट के भी टीका ले सकेंगे। सरकार ने कहा है की अब बिना स्लॉट बुक किए भी आप वैक्सीन ले सकते हैं। हालांकि, रजिस्ट्रेशन अब भी अनिवार्य है, लेकिन अब टीका लेते वक्त टीकाकरण केंद्रों पर भी रजिस्ट्रेशन करने की व्यवस्था होगी।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज सभी राज्यों को आदेश जारी कर कहा है कि वे सभी जिला प्रशासन से ऑनसाइट रजिस्ट्रेशन यानी टीकाकरण केंद्रों पर ही रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था शुरू करने को कहें। इस दौरान प्रशासन से इस बात का भी ध्यान रखने को कहा गया है कि रजिस्ट्रेशन के लिए भीड़-भाड़ न हो पाए। सरकार के इस आदेश के बाद अब ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा तो रहेगी ही साथ ही टीकाकरण केंद्रों पर भी लोग टीका लेने से पहले रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे।

इस व्यवस्था के तहत ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन वाले लोग यदि उतनी संख्या में टीकाकरण केंद्र पर नहीं पहुंच पाएंगे जितना कि टीका उपलब्ध हो, तो वहां रजिस्ट्रेशन कर दूसरे लोगों को टीका लगाया जाएगा। इससे वैक्सीन के डोज कम बर्बाद होंगे। फिलहाल यह सुविधा केवल सरकारी टीकाकरण केंद्रों पर लागू होगी। 

यह भी पढ़ें: ब्लैक और व्हाइट फंगस के आतंक के बीच अब येलो फंगस की एंट्री, गाजियाबाद में आया पहला मामला

इससे पहले केंद्र सरकार ने वैक्सीनेशन सेंटर्स पर भीड़-भाड़ को नियंत्रित करने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन अनिवार्य कर दिया था। हालांकि, इस व्यवस्था की वजह से कई तरह की परेशानियां सामने आ रही थी। ग्रामीण इलाकों के लोग जिनके पास स्मार्टफोन नहीं हैं वह स्लॉट बुक नहीं करवा पा रहे थे। इसके अलावा कई टीकाकरण केंद्रों से इस तरह की भी खबरें भी आ रही थी कि लोग स्लॉट बुक कराने के बावजूद टीका लेने नहीं पहुंच रहे थे। इस स्थिति में बड़े पैमाने पर वैक्सीन की बर्बादी हो रही थी, जिसे अब नई व्यवस्था के तहत बिना रजिस्ट्रेशन किए पहुंचने वाले लोगों को बची हुई खुराक लगाई जाएगी।