TMC सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ भोपाल में FIR, बोलीं- मैं पुलिस और गुंडों से डरने वाली नहीं

टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा पर राजधानी भोपाल में आईपीसी की धारा 295 A के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कराया गया है, सीएम शिवराज ने कहा है कि हम देवी देवताओं का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे

Updated: Jul 07, 2022, 06:55 AM IST

TMC सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ भोपाल में FIR, बोलीं- मैं पुलिस और गुंडों से डरने वाली नहीं

भोपाल। तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा पर मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मुकदमा दर्ज कराया गया है। टीएमसी नेत्री के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप लगे हैं। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि महुआ मोइत्रा के बयान से हिंदू धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है। उन्होंने कहा कि हिंदू देवी देवताओं का अपमान किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

दरअसल, डायरेक्टर, पोएट और ऐक्टर लीना मणिमेकलई ने 2 जून 2022 को अपनी डॉक्यूमेंट्री का पोस्टर ट्विटर पर शेयर किया था। मां काली की वेशभूषा में आर्टिस्ट एक हाथ में त्रिशूल तो एक हाथ में LGBTQ समुदाय के प्राइड फ्लैग को लिए नजर आ रही हैं। पोस्टर को लेकर विवाद बढ़ने पर टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने कहा था कि मेरे लिए मां मांस खाने वाली और शराब पीने वाली देवी हैं। ऐक्टर लीना मणिमेकलई के खिलाफ जहां चार राज्यों में एफआईआर हुई है, वहीं महुआ मोइत्रा के खिलाफ भी कोलकाता और भोपाल में एफआईआर दर्ज की गई है।

यह भी पढ़ें: डॉक्यूमेंट्री काली के पोस्टर पर बवाल, सिगरेट पीती दिखीं मां काली, हाथ में LGBTQ का झंडा

हालांकि, महुआ ने बताया कि उनकी टिप्पणी का ‘फिल्म काली‘ से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने तर्क दिया कि यदि आप तारापीठ जाते हैं, तो आप साधुओं को धूम्रपान करते देखेंगे। मां काली की पूजा का वहां यही रूप है। हिंदू धर्म में और एक काली उपासक होने के नाते, मुझे मां काली को उस रूप में कल्पना करने का अधिकार है; यही मेरी आजादी है।

महुआ मोइत्रा के खिलाफ भोपाल के क्राइम ब्रांच थाने में आईपीसी की धारा 295A के तहत धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का केस दर्ज हुआ है। उधर कोलकाता में इस बयान के खिलाफ भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन शुरू कर दिया और ममता बनर्जी से उनकी सांसद के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी ने तो यहां तक कह दिया कि अगर पैगंबर पर बयान देने को लेकर नूपुर शर्मा के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी करवाया जा सकता है तो ममता दीदी अपनी सांसद पर कार्रवाई से क्यों डर रही हैं?

मोइत्रा की टिप्पणी करने के तुरंत बाद टीएमसी ने उनके इस बयान से कन्नी काट ली थी। टीएमसी ने बयान जारी करते हुए कहा महुआ मोइत्रा द्वारा की गई टिप्पणियां और देवी काली पर व्यक्त किये गए विचार उनकी व्यक्तिगत सोच है, इससे पार्टी का कोई लेना-देना नहीं है। अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस इस तरह की टिप्पणियों की कड़ी निंदा करती है। इन सबके बीच महुआ मोइत्रा ने तृणमूल को ही अपने ट्विटर अकाउंट पर अनफॉलो कर दिया है। 

टीएमसी सांसद ने एक ट्वीट में लिखा है कि, 'ब्रिंग इट ऑन बीजेपी! मैं एक काली उपासक हूं। मुझे किसी भी बात का डर नहीं है। न तो अज्ञानियों से। न तुम्हारे गुंडों से, न पुलिस और तुम्हारे ट्रोल से तो बिल्कुल नहीं। सत्य को किसी अन्य तरह की ताकत की आवश्यकता नहीं होती है।' इस पूरे मामले पर कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि महुआ मोइत्रा ने देवी काली पर जो बयान दिया था, उसके बाद उनपर जो हमला हो रहा है मैं उससे हैरान हूं। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा- महुआ के बयान को गंभीरता से ना लें और धर्म को बहस का मुद्दा न बनाएं।